loader

नोएडा में 'रॉङ्ग साइड' चलने वाले रहें होशियार, ख़बरदार

अब सड़क पर 'रॉङ्ग साइड' चलने की बुरी आदत से तौबा कर लीजिए। वरना आपकी गाड़ी की ख़ैर नहीं है। नोएडा अथॉरिटी ने ऐसे लोगों का इलाज खोज़ लिया है जो 'रॉङ्ग साइड' चलकर उनके लिए मुसीबत खड़ी करते हैं जो ट्रैफ़िक नियमों का पालन करते हैं। 

नोएडा अथॉरिटी, 'रॉङ्ग साइड' आने वालों के लिए शहर में 5 जगहों पर 'टायर किलर' लगाएगी। 'रॉङ्ग साइड' आने वाले लोगों की गाड़ी का टायर जैसे ही 'टायर किलर' पर चढ़ेगा, पंक्चर हो जाएगा। शहर के सेक्टर 76-74 चौराहे पर इसका ट्रायल करने की योजना बनाई गई है। अगले तीन दिनों में टायर किलर्स को लगा दिया जाएगा। इन 5 जगहों को ट्रैफ़िक पुलिसकर्मियों से मिले फ़ीडबैक के आधार पर ही टायर किलर्स लगाने के लिए फ़ाइनल किया गया है।

नोएडा ही नहीं, देश के अन्य शहरों में भी 'रॉङ्ग साइड' चलकर ट्रैफ़िक नियमों को तोड़ना आम बात है। कुछ लोग ऐसा जानबूझ करते हैं और कुछ लोग जल्दबाज़ी में राँग साइड चलते हैं। इस कारण कई बार एक्सीडेंट हो चुके हैं और सड़कों पर भी इसे लेकर लड़ाई होना आम बात है। क्योंकि ट्रैफ़िक नियमों का पालन करने वाले लोग ऐसे लोगों की वजह से आए दिन परेशान होते हैं। 

76-74 चौराहे के अलावा सेक्टर 77 में नॉर्थ आई जंक्शन, होशियारपुर यू टर्न, सेक्टर 61 में साईं मंदिर यू टर्न पर और सेक्टर 75 मेट्रो स्टेशन के पास इन टायर किलर्स को लगाया जाएगा।

नोएडा अथॉारिटी के जरनल मैनेजर राजीव त्यागी ने बताया, ‘नोएडा में रॉङ्ग साइड चलने वालों का आतंक है और ऐसे लोगों पर कई बार जुर्माना भी लगाया जा चुका है। लेकिन लोग इस हरकत से बाज़ आने को तैयार नहीं हैं। अथॉरिटी और आम लोग भी इससे बहुत परेशान हैं’। त्यागी ने बताया, ‘टायर किलर के बारे में लोगों को बताने के लिए साइन बोर्ड लगाने का काम शुक्रवार से शुरू कर दिया गया है और एक जगह पर इसे लगाने में तीन दिन लगेंगे’। 

टायर किलर्स लोहे से बना होगा और इसमें एक ओर नुकीली मोटी कीलें लगी होंगी। जो लोग सही दिशा में चलेंगे, उन्हें इससे जरा-सा झटका लगेगा लेकिन यह झटका सिर्फ़ उतना ही होगा, जितना किसी स्पीड ब्रेकर पर गाड़ी के जाने पर लगता है। लेकिन जो लोग गलत दिशा में चलेंगे, 'टायर किलर्स' पर लगी नुकीली कीलों से उनकी गाड़ी के टायरों को नुक़सान हो सकता है। 

पुणे देश में पहला शहर है, जहाँ पर इन 'टायर किलर्स' को लगाया गया। लेकिन कुछ वाहन चालकों का बैलेंस बिगड़ने के कारण हादसा हादसा हुआ और इसे हटाना पड़ा।

सुधरने को तैयार नहीं लोग

नोएडा अथॉरिटी ने पहले भी राँग साइड चलने वालों को राेकने के लिए कई क़दम उठाए हैं। अथॉरिटी के अधिकारियों का कहना है कि नोएडा में टायर किलर्स को लगाना काफ़ी कारगर रहेगा। अथॉरिटी ने अवैध बने हुए कट को बंद करने और ई-चालान करने वाले क़दम भी उठाए लेकिन इससे राँग साइड चलने वाले लोग नहीं सुधरे। 

नोएडा के पुलिस अधीक्षक (यातायात) अनिल कुमार झा ने बताया, नोएडा में लोग राँग साइड चलने के आदी हैं। जबकि एनसीआर के बाक़ी शहरों में ऐसा नहीं है। आलम यह है कि अगर 500 मीटर आगे जाकर टर्न है तो भी लोग उल्टा आते हैं और ऐसा करने वालों में दो पहिया वाहन चलाने वाले ज़्यादा हैं। झा ने कहा, जुर्माना करने से भी कोई फ़ायदा नहीं हुआ और अब हमें उम्मीद है कि टायर किलर्स लोगों की अकल दुरुस्त करेंगे।

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

शहर से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें