loader
प्रतीकात्मक तसवीर।

दिल्ली: एक दिन में संक्रमण के 2,137 मामले, कुल 36 हज़ार से ज़्यादा संक्रमित

दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 2,137 मामले सामने आए हैं। यह अब तक का 1 दिन में सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले गुरुवार को 1,877 मामले सामने आए थे। इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमितों की संख्या 36,824 हो गई है और अब तक 1,214 लोगों की मौत हो चुकी है।

कुल संक्रमित लोगों में से 22,212 एक्टिव केस हैं जबकि 13,398 लोग ठीक हो चुके हैं। 

ताज़ा ख़बरें

दिल्ली में अभी 222 इलाक़ों को कंटेनमेंट ज़ोन बनाया गया है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुमान है कि अगले दो हफ़्तों में संक्रमण के कुल मामले 56 हज़ार से ज़्यादा हो सकते हैं। 

सुप्रीम कोर्ट ने भी शुक्रवार को दिल्ली सरकार को जोरदार फटकार लगाते हुए कहा था कि राजधानी में कोरोना के मरीजों का इलाज जानवरों से भी बदतर ढंग से हो रहा है। शीर्ष अदालत की तीन जजों की बेंच ने कोरोना मरीजों के इलाज में हो रही लापरवाहियों का स्वत: संज्ञान लिया है। 

बेंच में शामिल जस्टिस एम.आर. शाह ने कहा था, ‘एक मामले में तो शव कूड़ेदान में मिला। यह क्या हो रहा है।’ अदालत ने अरविंद केजरीवाल सरकार से कहा कि वह कोरोना वायरस की टेस्टिंग कम क्यों हो रही है, इस बारे में जवाब दे। 

दिल्ली से और ख़बरें
कुछ दिन पहले ही दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि कोरोना संक्रमण के मामले इसी रफ़्तार के साथ बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक राजधानी में संक्रमण के मामलों की संख्या 5.5 लाख तक पहुंच सकती है और इसके लिए 80 हज़ार बेड्स की ज़रूरत होगी।
दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने हाल ही में कहा था कि राजधानी में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड शुरू हो गया है लेकिन केंद्र सरकार जब इसे आधिकारिक तौर पर घोषित करेगी तभी इसे माना जाएगा। उन्होंने कहा कि राजधानी में लगभग आधे केस ऐसे आ रहे हैं जिसमें लोगों को यह नहीं पता चल रहा है कि उन्हें कोरोना वायरस का संक्रमण कहां से हुआ है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें