loader

दिल्ली में डॉक्टर्स का जोरदार प्रदर्शन, पुलिस से हुई झड़प

रेजिडेंट डॉक्टर्स ने दिल्ली में सोमवार रात को जोरदार प्रदर्शन किया और मेडिकल सुविधाओं को पूरी तरह बंद करने की चेतावनी भी दी। उनका कहना था कि पुलिस ने उनके प्रदर्शन पर बल प्रयोग किया है। वे NEET पोस्ट ग्रेजुएट परीक्षा के बाद कॉलेज के आवंटन में देर होने व कुछ अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। 

जबकि जूनियर डॉक्टर्स का कहना था कि NEET पोस्ट ग्रेजुएट काउंसलिंग में हो रही देरी की वजह से मेडिकल कॉलेजों में दाखिला नहीं मिल पा रहा है। डॉक्टर्स का प्रदर्शन मंगलवार को भी जारी रहा। 

डॉक्टर्स के प्रदर्शन के जो फोटो सामने आए हैं उनमें दिखता है कि हजारों डॉक्टर्स दिल्ली के सरोजनी नगर पुलिस थाने में मौजूद हैं। 

ताज़ा ख़बरें

स्वास्थ्य सुविधाएं करेंगे ठप 

फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन ने उससे जुड़े संगठनों और डॉक्टर्स की एसोसिएशन से कहा है कि वह बुधवार से देशभर में स्वास्थ्य सुविधाओं को बंद कर दें। एम्स की रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन भी इनके समर्थन में आगे आ गई है और उसने चेताया है कि अगर सरकार 24 घंटे में सही जवाब नहीं देती है तो वे सभी नॉन इमरजेंसी सेवाओं को बंद कर देंगे। 

डॉक्टर्स के सड़कों पर उतरने की वजह से तीन बड़े सरकारी अस्पतालों सफदरजंग, आरएमएल और लेडी हॉर्डिंग में स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित हुईं।

प्रदर्शनकारी डॉक्टर्स ने आरोप लगाया कि उनसे तय समय से ज्यादा काम कराया जा रहा है और उन्होंने नए डॉक्टर्स की भर्ती करने की मांग की। लेकिन यह मामला इस वजह से रुका हुआ है क्योंकि इसमें सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। 

Resident Doctors Protest In Delhi Over NEET Exam  - Satya Hindi

डॉक्टर्स अपने कैंपस से सुप्रीम कोर्ट की ओर मार्च निकालने की कोशिश कर रहे थे तो उनकी पुलिसकर्मियों से मुठभेड़ हुई और इस दौरान कई लोग घायल भी हो गए। महिला डॉक्टर्स ने आरोप लगाया कि मार्च के दौरान उनके साथ अभद्रता की गई और उन्होंने इसे डॉक्टर्स के पेशे के लिए काला दिन करार दिया। 

पुलिस ने किया इनकार 

हालांकि पुलिस ने इस बात से इनकार किया है कि उसने किसी तरह का बल प्रयोग किया या किसी से अभद्र भाषा में बात की। पुलिस का कहना है कि केवल 12 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया और उन्हें बाद में रिहा कर दिया गया। 

Resident Doctors Protest In Delhi Over NEET Exam  - Satya Hindi

पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने 6 से 8 घंटे तक आईटीओ की ओर जाने वाली रोड के एक हिस्से को जाम कर दिया था और कई बार अनुरोध किए जाने के बाद भी उन्होंने जाम नहीं खोला। 

दिल्ली से और ख़बरें

पुलिस का कहना है कि जब प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाने की कोशिश की गई तो उन्होंने उनकी वर्दी फाड़ दी और पुलिस की गाड़ियों के शीशे भी तोड़ दिए। 

रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने बीते शनिवार को कहा था कि अगर उनकी मांगों को नहीं माना जाता है तो उनके संगठन से जुड़े लोग सामूहिक तौर पर नौकरी से इस्तीफा दे देंगे। 

इस मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी ट्वीट किया है। 
राहुल गांधी ने कहा है कि फूल बरसाना दिखावे का प्यार था असलियत में अन्याय बरसा रहे हैं। प्रियंका ने कहा है कि डॉक्टरों को झूठा प्यार नहीं सम्मान व हक चाहिए।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें