loader

देर रात घर पहुंचे बग्गा, समर्थकों ने किया जोरदार स्वागत

शुक्रवार को दिनभर चले घटनाक्रम के बाद बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा देर रात को वापस अपने घर पहुंच गए। बग्गा को द्वारका कोर्ट की मजिस्ट्रेट स्वयं सिद्धा त्रिपाठी के सामने पेश किया गया। मजिस्ट्रेट ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया कि वह तजिंदर पाल सिंह बग्गा और उनके परिवार को सुरक्षा उपलब्ध कराए क्योंकि बग्गा के वकील की दलील थी कि बीजेपी नेता को इस बात का डर है कि उनके साथ ऐसी घटना फिर से हो सकती है।

इसके बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें उनके घर तक छोड़ा। जहां बग्गा के समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया। 

इससे पहले बग्गा को दिल्ली पुलिस वापस राजधानी ले आई थी। हरियाणा पुलिस ने बग्गा को दिल्ली पुलिस को सौंप दिया था। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा था कि बग्गा का अपहरण किया गया है और हरियाणा पुलिस उन्हें दिल्ली पुलिस को ही सौंपेगी। 

बग्गा को मोहाली लेकर जा रही पंजाब पुलिस को कुरुक्षेत्र में हरियाणा पुलिस ने रोक लिया था। जबकि दिल्ली पुलिस ने कहा था कि पंजाब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तारी के बारे में कोई सूचना नहीं दी थी।

ताज़ा ख़बरें

पंजाब पुलिस ने इस मामले में हाई कोर्ट का रुख किया और अदालत से अपील की थी कि वह दिल्ली पुलिस को तजिंदर सिंह बग्गा के साथ हरियाणा का बॉर्डर क्रॉस नहीं करने दे। लेकिन हाई कोर्ट ने पंजाब की याचिका को खारिज कर दिया। 

बता दें कि पंजाब पुलिस शुक्रवार सुबह बग्गा के दिल्ली स्थित घर पर पहुंची और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बग्गा बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय सचिव हैं। दिल्ली बीजेपी के नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर बग्गा को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी थी।  

अपहरण का मामला दर्ज

दिल्ली पुलिस ने बग्गा की गिरफ्तारी पर अपहरण का मामला भी दर्ज कर लिया था। इसके जवाब में पंजाब पुलिस ने हरियाणा के डीजीपी को पत्र लिखा था और कहा है कि बग्गा की गिरफ्तारी कोई अपहरण का मामला नहीं है और हरियाणा की पुलिस पंजाब पुलिस के काम में बेवजह अड़ंगा लगा रही है।

Tajinder Pal Singh Bagga arrested Haryana police - Satya Hindi

'चेहरे पर मुक्का मारा'

तजिंदर पाल सिंह बग्गा के पिता ने पंजाब पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा कि शुक्रवार सुबह 10 से 15 पुलिस कर्मचारी उनके घर आए और बग्गा को खींचकर बाहर ले गए। जब उन्होंने इसका वीडियो बनाने की कोशिश की तो पुलिस उन्हें दूसरे कमरे में ले गई और उनके चेहरे पर मुक्का मारा। दिल्ली बीजेपी ने कहा है कि बग्गा को पगड़ी तक नहीं पहनने दी गई।  

दिल्ली से और खबरें

क्या है मामला?

बग्गा के खिलाफ आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सनी सिंह ने मोहाली जिले के साहिबजादा अजीत सिंह नगर में स्थित साइबर सेल में मुकदमा दर्ज कराया था।

सनी सिंह ने कहा था कि बग्गा ने भड़काऊ भाषण दिए, अफवाह फैलाई और धार्मिक तनाव फैलाने की कोशिश की। बग्गा पर आरोप है कि उन्होंने 30 मार्च को हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धमकी दी थी। 

पंजाब पुलिस का कहना है कि उसने बग्गा को 5 बार नोटिस दिया था और जांच में शामिल होने के लिए कहा था लेकिन वह जांच में शामिल नहीं हुए। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें