loader

जानिए, प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर कैसे चमकाई जा रही है छवि!

बीजेपी ने प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन यानी शुक्रवार को 'छवि चमकाने' का अभियान शुरू कर दिया है। यह अख़बारों में भी दिख रहा है और बीजेपी के सोशल मीडिया पर भी। अख़बारों में लेख लिखकर प्रधानमंत्री को 'महान सुधारक' और 'स्वप्न दृष्टा' तक बताया गया है। विज्ञापनों में बीजेपी शासित किसी राज्य में 'विकास उत्सव' मनाया जा रहा है तो किसी में 'जन कल्याण और सुराज अभियान'। सभी जगहों पर 20 दिनों के लिए ऐसे कार्यक्रम तय कर दिए गए हैं। इनमें सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को योजनाओं का लाभ दिया जाएगा और मोदी सरकार के काम का गुणगान किया जाएगा। बीजेपी ने कोरोना टीकाकरण रिकॉर्ड स्तर पर करने की भी ज़िम्मेदारी दी और एक दिन में 2 करोड़ लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य रखा है।

बीजेपी ने सोशल मीडिया पर इस अभियान की शुरुआत जबरदस्त तरीक़े से की है। इसने एक वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट में लिखा है, 'पूरे देश की तरफ़ से भारत के प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी को जन्मदिन का तोहफा!'

बीजेपी ने वीडियो साझा किया है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी को 'एक स्वप्न दृष्टा', 'एक सुधारक' बताया गया है। इसमें देश के इंफ्रास्ट्रक्चर से लेकर स्वास्थ्य, टीकाकरण, खेल, महिला विकास, संस्कृति और आर्थिक विकास के दावे किए गए हैं। इसमें भारत को फिर से विश्व गुरु बनाने के प्रयास की बात कही गई है। ऐसा तब है जब इन मुद्दों पर मोदी सरकार की जबरदस्त आलोचना होती रही है। ख़ासकर देश की ख़राब आर्थिक हालात के लिए तो सरकार की चौतरफ़ा आलोचना होती रही है। 

कई राज्यों में विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी ने यह अभियान शुरू किया है। इस बार प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को बीजेपी 'सेवा सप्ताह' की जगह 'सेवा और समर्पण अभियान' मना रही है। बीजेपी पहले 'सेवा सप्ताह' के तहत स्वास्थ्य जाँच, रक्तदान शिविर से लेकर वृद्धाश्रम में खाना बांटने जैसे कार्यक्रम करती थी। लेकिन इस बार सब अलग है। इस बार 'सेवा और समर्पण अभियान' के तहत अन्य कार्यक्रमों के तहत प्रधानमंत्री मोदी के जीवन और कार्यों को लेकर प्रदर्शनी, सेमिनार जैसे आयोजन भी होंगे। 

ताज़ा ख़बरें

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर किस तरह की प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी इसकी झलक बीजेपी द्वारा बनाए गए एक वीडियो में भी मिलती है। बीजेपी ने अपने ट्विटर हैंडल से इसे शेयर किया है। इसके साथ ट्वीट में इसने लिखा है कि नमो ऐप पर प्रधानमंत्री मोदी के जीवन पर आधारित वर्चुअल प्रदर्शनी लगाई जा रही है।

कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में विफल रहने और स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त नहीं करने के लिए आरोप झेल रही बीजेपी टीकाकरण को उपलब्धि के तौर पर पेश करेगी। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कल लोगों से टीके की खुराक लेने का आग्रह करते हुए कहा कि चलो वैक्सीन सेवा करें और जिन्होंने अभी तक खुराक नहीं ली है उन्हें टीका लगवाकर पीएम मोदी को जन्मदिन का उपहार दें।

बीजेपी के नेताओं से टीकाकरण को बढ़ावा देने का आग्रह किया गया है और राज्य के अधिकारियों को टीकाकरण दोगुना करने के लिए कहा गया है। बीजेपी ने आज 2 करोड़ खुराक का लक्ष्य पूरा करने के लिए क़रीब आठ लाख स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित किया है।

इस बार आँकड़ों को भी सांकेतिक तौर पर प्रधानमंत्री मोदी से जोड़कर खास तौर पर पेश करने की कोशिश की गई है। 17 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी का 71वाँ जन्मदिन है। इसी दिन अभियान की शुरुआत हुई। 7 अक्टूबर तक यह अभियान चलेगा। 7 अक्टूबर 2001 को गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में सार्वजनिक जीवन की शुरुआत करने के 20 साल पूरे हो रहे हैं। 71 साल प्रधानमंत्री की उम्र है और नदियों में 71 जगहों को चिन्हित किया गया है जहाँ साफ़-सफ़ाई की जाएगी और जिनका प्रचार किया जाएगा।

देश से और ख़बरें

भाजपा ने कहा है कि 'गरीबों के लिए मुफ्त अनाज और टीकाकरण' के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद देने वाले होर्डिंग्स भी अभियान का हिस्सा होंगे। रिपोर्ट है कि बूथ स्तर पर लोगों को लामबंद करके ग़रीबों के कल्याण में उनके योगदान के लिए 5 करोड़ 'थैंक यू मोदीजी' पोस्ट कार्ड सीधे पीएम को मेल किए जाएँगे। जाने-माने लेखक स्थानीय मीडिया में प्रधानमंत्री मोदी की सरकार पर टिप्पणी करेंगे।

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद से मोदी बीजेपी के लगभग सभी प्रमुख राजनीतिक अभियानों का चेहरा रहे हैं। उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में अगले कुछ महीनों में होने वाले चुनाव से पहले बीजेपी का यह अभियान क्या प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता को बढ़ा पाएगा?

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें