loader

अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न के आरोप, पूर्व पत्नी कल्कि भी बचाव में उतरीं

मोदी सरकार की नीतियों पर हमलावर रहे और सामाजिक मुद्दों पर अपनी बेबाक टिप्पणी के लिए मशहूर निर्देशक और अभिनेता अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं। अभिनेत्री पायल घोष ने ये आरोप लगाये हैं। इन आरोपों के बाद कल्कि कोचलिन ने अपने पूर्व पति अनुराग कश्यप का समर्थन किया है और पायल की तीखी आलोचना की है। उन्होंने अनुराग कश्यप को संबोधित अपने ट्वीट में कहा है कि यह ऐसा समय है जब बिना नतीजा जाने लोग ग़लत आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। 

यौन उत्पीड़न के आरोप में अनुराग कश्यप तब घिरे हैं जब हाल ही में चल रहे बॉलीवुड में ड्रग्स विवाद के बीच उन्होंने बीजेपी सांसद व फ़िल्म अभिनेता रवि किशन के बारे में एक ख़ुलासा किया। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि रवि किशन पहले वीड लेते थे। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स का विवाद आया है और इस पर रवि किशन ने संसद में कहा था कि बॉलीवुड में ड्रग्स का बोलबाला है। इसके बाद इस मुद्दे पर समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने भी संसद में बोला। इसके साथ ही यह बॉलीवुड से ज़्यादा अब राजनीतिक मुद्दा हो गया है।

ताज़ा ख़बरें

हाल के दिनों में बॉलीवुड में चल रहे इस उथल-पुथल के बीच ही अभिनेत्री पायल घोष का यह सनसनीखेज मामला आया है। अभिनेत्री ने डायरेक्टर को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अनुराग कश्यप ने मेरे साथ ज़बरदस्ती की। नरेंद्र मोदी जी आपसे अनुरोध है कि इनके ख़िलाफ़ कार्रवाई कीजिए और देश को पता चले कि हक़ीक़त क्या है। मुझे पता है कि यह कहना मेरे लिए नुक़सानदेह है और मेरी सुरक्षा ख़तरे में है। कृपया मदद कीजिए।’ 

पायल घोष ने अनुराग कश्यप पर गंभीर आरोप लगाते हुए अपने लिए सुरक्षा की माँग भी की। इसके साथ ही अभिनेत्री ने एक न्यूज़ चैनल में दिये इंटरव्यू में कहा, ‘अनुराग कश्यप ने उन्हें लाइब्रेरी में ले जाकर आपत्तिजनक वीडियो दिखाए। मीटू मूवमेंट के दौरान भी उन्होंने अपने साथ हुए यौन शोषण की कहानी सुनाई थी, लेकिन बाद में उन्होंने ख़ुद वे ट्वीट डिलीट कर दिए। उन्होंने आगे कहा, ‘उन्हें उनके परिवार के सपोर्ट की ज़रूरत है। इसके बाद ही वह एजेंसी से संपर्क करेंगी। लेकिन, अगर अनुराग कश्यप इस बीच उनसे माफ़ी माँगते हैं तो वह उन्हें माफ़ करने के लिए भी तैयार हैं। इसके साथ ही पायल ने बॉलीवुड से भी सपोर्ट की उम्मीद जताई है।’ पायल ने यह भी कहा है कि वह ओशिवारा पुलिस स्टेशन में अनुराग कश्यप के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराएँगी।

इस पूरे विवाद में अनुराग कश्यप की पूर्व पत्नी कल्कि ने अपने ट्वीट में लिखा, 'ट्रोल्स तो ट्रोल करेंगे।' उन्होंने अपने बयान में कहा, 'प्रिय अनुराग, इस सोशल मीडिया सर्कस को आप तक न पहुँचने दें, आपने अपनी स्क्रिप्ट में महिलाओं की आज़ादी के लिए लड़ाई लड़ी है, आपने अपने पेशेवर जगह के साथ-साथ व्यक्तिगत जीवन में भी उनकी सत्यनिष्ठा का बचाव किया है। मैं इसका गवाह रही हूँ, व्यक्तिगत और पेशेवर जगह पर आपने मुझे हमेशा अपने बराबर देखा है, आप हमारे तलाक़ के बाद भी मेरी सत्यनिष्ठा के लिए खड़े हुए हैं, और तब भी आपने मेरा साथ दिया जब काम के माहौल में मैं असुरक्षित महसूस करती थी जब हम एक साथ नहीं हुए थे। यह अजीब समय है जहाँ हर कोई एक-दूसरे को गाली देता है और बिना यह जाने झूठे दावे करता है कि इसके नतीजे ख़तरनाक और नुक़सान देने वाले होंगे। यह परिवारों, दोस्तों और देशों को नष्ट कर रहा है। लेकिन गरिमा का एक स्थान है जो वर्चुअल ब्लड बाथ से परे है...।'

पायल घोष के इन आरोपों के समय को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं और कहा जा रहा है कि वह अब तक चुप क्यों थीं। लेकिन इस बीच पायल घोष को अभिनेत्री कंगना रनौत का समर्थन मिल गया। वही कंगना रनौत जो हाल के दिनों में बॉलीवुड में काफ़ी विवादों में हैं और उन्होंने बॉलीवुड में ड्रग्स, नेपोटिज़्म जैसे मुद्दों को ज़ोर-शोर से उठाया है। कंगना और अनुराग कश्यप भी कई मुद्दों पर एक-दूसरे के ख़िलाफ़ आमने सामने आ चुके हैं।

अनुराग कश्यप पर लगे आरोप पर बोलीं कंगना-

पायल घोष द्वारा अनुराग कश्यप पर आरोप लगाने के बाद कंगना रनौत ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'हर आवाज़ मायने रखती है। अनुराग कश्यप को गिरफ़्तार करो।' 

रेखा शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘आप मुझे ncw@nic।in और @NCWIndia पर विस्तार से अपना पक्ष भेज सकती हैं। पूरे मामले को देखा जाएगा।’ 

अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन करते हुए अनुराग कश्यप ने एक साथ कई ट्वीट किये। एक ट्वीट में लिखा, '...चाहे मेरी पहली पत्नी हों या दूसरी पत्नी हों या कोई भी प्रेमिका या वो बहुत सारी अभिनेत्रियाँ जिनके साथ मैंने काम किया है, या वो पूरी लड़कियों और औरतों की टीम जो हमेशा मेरे साथ काम करती आयी हैं, या वो सारी औरतें जिनसे मैं मिला बस, अकेले में या जनता के बीच मैं इस तरह का व्यवहार ना तो कभी करता हूँ ना तो कभी किसी क़ीमत पर बर्दाश्त करता हूँ। बाक़ी जो भी होता है देखते हैं। आपके वीडियो में ही दिख जाता है कितना सच है कितना नहीं, बाक़ी आपको बस दुआ और प्यार। आपकी अंग्रेज़ी का जवाब हिंदी में देने के लिए माफ़ी।’

पहली पत्नी ने भी किया समर्थन

दूसरी तरफ़ अनुराग कश्यप पर लगे आरोपों को कई स्टार्स ने बेबुनियाद बताते हुए उनका सपोर्ट किया। उनकी पूर्व पत्नी आरती बजाज ने भी सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर लिखा, ‘मैं पहली पत्नी हूँ। अनुराग कश्यप आप एक रॉकस्टार हो। महिलाओं को हमेशा की तरह सशक्त करते रहो और उनके लिए सबसे सुरक्षित जगह बनाते रहो। मैं यह सब कुछ हमारी बेटी के लिए देखती हूँ। यहाँ कोई ईमानदारी नहीं है और दुनिया हारे हुए और बिना दिमाग़ वाले लोगों से भर गई है। जो किसी भी ऐसे इंसान के ख़ून के प्यासे हो गए हैं जो आवाज़ उठाता है। नफ़रत करने में लगने वाली ऊर्जा अगर लोग किसी अच्छे काम में लगाएँ तो दुनिया एक बेहतर जगह बन सकती है। मैंने अभी तक जो देखा है, यह उसमें सबसे घटिया हरकत है। पहले मुझे इस पर ग़ुस्सा आया और फिर मैं ज़ोर से हँसी क्योंकि यह इससे ज़्यादा बनाया हुआ नहीं हो सकता। मुझे माफ़ करना कि आपको इससे गुज़रना पड़ रहा है। यही इनका स्तर है। आप अपनी आवाज़ का इस्तेमाल करते रहो, हमसब आपसे प्यार करते हैं।’

इसके साथ ही इस पूरे मामले पर फ़िल्म निर्देशक अनुराग कश्यप की वकील प्रियंका खिमानी ने भी बयान जारी किया है। उन्होंने कहा, ‘मेरे क्लायंट अनुराग कश्यप यौन शोषण के उन झूठे आरोपों से आहत हुए हैं, जो इस वक़्त सोशल मीडिया पर फैला हुआ है। ये आरोप पूरी तरह से झूठ हैं, बुरी भावना और बेईमानी से लगाए गए हैं। बहुत दुखद है कि मीटू जैसे ज़रूरी सोशल मूवमेंट को हथियार बनाकर किसी के चरित्र पर आघात करने की कोशिश की गई है। इस तरह के झूठे आरोप, मीटू से जुड़े उन पीड़ितों के लिए आघात है जो सच में ऐसी कठिन परिस्थितियों से गुज़रे हैं। मेरे क्लायंट को उनके सारे क़ानूनी तरीक़े और अधिकार समझा दिए गए हैं और वो पूरी तरह से उनका इस्तेमाल करने को तैयार हैं।’

देश से और ख़बरें

साज़िश बन रहा मीटू कैंपेन?

ऐसा कहा जा रहा है कि फ़िल्ममेकर अनुराग कश्यप लगातार हर मुद्दे पर अपनी बात रख रहे थे और पिछले दिनों उनकी एक्ट्रेस कंगना रनौत के साथ भी ट्विटर पर एक लंबी बहस हो गई थी। बता दें कि कंगना ने ट्वीट किया था- ‘मैं एक क्षत्राणी हूँ। सर कटा सकती हूँ, लेकिन सर झुका सकती नहीं! राष्ट्र के सम्मान के लिए हमेशा आवाज़ बुलंद करती रहूँगी। मान, सम्मान, स्वाभिमान के साथ जी हूँ और गर्व से राष्ट्रवादी बनकर जीती रहूँगी! सिद्धांत के साथ कभी समझौता नहीं किया और न कभी करूँगी! जय हिंद।’ 

ex-wife kalki koechlin supports anurag kashyap slams payal ghosh sexual assault claims - Satya Hindi
इस पर अनुराग कश्यप ने लिखा था, ‘बस एक तू ही है बहन- इकलौती मणिकर्णिका। तू न चार पाँच को ले के चढ़ जा चीन पर। देखो कितना अंदर तक घुस आए हैं। दिखा दे उनको भी कि जब तक तू है इस देश का कोई बाल भी बाँका नहीं कर सकता। तेरे घर से एक दिन का सफर है बस एलएसी का। जा शेरनी। जय हिंद।’

अनुराग कश्यप और रवि किशन

इसके बाद अनुराग कश्यप ने पत्रकार फे डिसूजा से बातचीत में कहा, ‘रवि किशन ने मेरी लास्ट फ़िल्म मुक्काबाज़ में काम किया था। वे जय शिव शंकर, जय बम भोले, जय शिव शंभू बोलकर दिन की शुरुआत करते थे। वे उन लोगों में से हैं, जो लंबे समय तक वीड का सेवन करते थे। यह ज़िंदगी है। इस बारे में सब जानते हैं। पूरी दुनिया जानती है। एक भी इंसान ऐसा नहीं है, जो यह नहीं जानता हो कि रवि किशन स्मोकिंग करते थे। हो सकता है कि अब उन्होंने यह छोड़ दिया हो। क्योंकि वे मंत्री बन गए हैं। हो सकता है कि अब वे साफ़-सुथरे हो गए हों। लेकिन क्या आप इसे ड्रग्स में शामिल करेंगे? नहीं, मैं रवि किशन को जज नहीं कर रहा हूँ। क्योंकि मैं वीड को ड्रग्स में शामिल नहीं करता। वे स्मोक करते थे। वे हमेशा लेते रहे हैं और उन्होंने अपना काम बख़ूबी किया है। लेकिन इसने उन्हें ख़राब नहीं बनाया। उन्हें मोन्स्टर नहीं बनाया। यह ऐसा कुछ नहीं था, जिसे लोग ड्रग्स से जोड़ते। इसलिए जब वे इस बारे में बात करते हैं और एकतरफ़ा पक्ष लेते हैं तो मुझे इससे दिक्कत है।’ 

ex-wife kalki koechlin supports anurag kashyap slams payal ghosh sexual assault claims - Satya Hindi
इन सभी बातों के बाद ही अनुराग पर इस तरह के गंभीर आरोप लगे। इस बात पर ख़ुद अनुराग कश्यप ने भी ट्वीट किया कि अभी तो कहाँ- कहाँ से तीर छोड़ें जाने वाले हैं, इंतज़ार है।

साल 2018 में चला था मीटू कैंपेन

साल 2018 में मीटू कैंपेन उस वक़्त शुरू हुआ जब एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने एक्टर नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। एक्ट्रेस ने कहा था, ‘10 साल पहले फ़िल्म 'हॉर्न ओके प्लीज' के सेट पर नाना पाटेकर ने उनसे ग़लत व्यवहार किया था। तनुश्री दत्ता फ़िल्म हॉर्न ओके प्लीज में स्पेशल सॉन्ग के लिए आई थीं, लेकिन नाना पाटेकर के अभद्र व्यवहार के बाद उन्होंने वह फ़िल्म छोड़ दी थी।’ इस मामले ने काफ़ी तूल पकड़ा था और नाना पाटेकर के ख़िलाफ़ मामला भी दर्ज किया गया था। मुंबई पुलिस ने मामले की जाँच की थी। पुलिस को नाना पाटेकर के ख़िलाफ़ तनुश्री दत्ता द्वारा लगाए गए आरोपों के संबंध में कोई पुख्ता सबूत नहीं मिला था। इसके बाद नाना पाटेकर को क्लीन चिट दे दी गई थी। इस पर एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने कहा था, ‘एक भ्रष्ट पुलिस और क़ानूनी प्रणाली ने भ्रष्ट व्यक्ति नाना पाटेकर को क्लीन चिट दे दी, जो अभी भी कई महिलाओं को डराने, धमकाने और उन्हें प्रताड़ित करने के आरोपी हैं।’ मीटू मूवमेंट के दौरान कई एक्टर, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर्स पर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगे थे। कई आरोप सही थे लेकिन कई महिलाओं ने कैंपेन का ग़लत फ़ायदा उठाते हुए झूठे आरोप भी लगाये थे। जिसकी वजह से कई बड़ी हस्तियों को सोशल मीडिया से लेकर असल ज़िंदगी में कई मुसीबतों का सामना करना पड़ा। कई एक्टर्स और डायरेक्टर के हाथ से उनकी फ़िल्म चली गई थी।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
दीपाली श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें