loader

बढ़ती महंगाई के बचाव में वित्त मंत्री निर्मला के संसद में तर्क

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को देश में की संसद में बढ़ती महंगाई के बचाव में कई तर्क दिए। भारतीय अर्थव्यवस्था के संबंध में विदेशी एजेंसियों की रिपोर्टों को खारिज करने वाली सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ब्लूमबर्ग के हवाले से कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था बहुत मजबूत स्थिति में है। उधर, तृणमूल कांग्रेस की सदस्य ने सदन में बैंगन खाकर बढ़ती महंगाई पर अपनी बात कहती रहीं लेकिन उनकी बात सुनने के लिए किसी के पास वक्त नहीं था।
वित्त मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया कोविड महामारी और युद्ध से जूझ रही है, फिर भी भारत की अर्थव्यवस्था ने भारी चुनौतियों के बावजूद अच्छा प्रदर्शन किया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट कहती है कि भारत की अर्थव्यवस्था अधिकांश देशों की तुलना में काफी बेहतर है। भारत अभी भी सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि जल्द ही महंगाई कम होगी।

ताजा ख़बरें
लोकसभा में महंगाई पर बहस के जवाब में मंत्री ने कहा, ग्लोबल एजेंसियों ने भारत की अर्थव्यवस्था को उच्च स्थान दिया है। हमने इस तरह की महामारी कभी नहीं देखी … हम सभी यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे थे कि हमारे निर्वाचन क्षेत्रों के लोगों को अतिरिक्त मदद दी जाए। मैं मानती हूं कि सभी-सांसदों और राज्य सरकारों ने अपनी भूमिका निभाई है।

इसलिए, मैं इसके लिए भारत के लोगों को पूरी तरह से श्रेय देती हूं... विपरीत परिस्थितियों में भी हम खड़े होने और सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के रूप में पहचाने जाने में सक्षम हैं।


-निर्मला सीतारमण, सोमवार को संसद में

उन्होंने कहाआज (सोमवार) सुबह हमने जुलाई के पूरे महीने के लिए जीएसटी संग्रह की घोषणा की। जुलाई 2022 में, हमने जीएसटी लागू होने के बाद से अब तक का दूसरा उच्चतम स्तर हासिल किया है - जो कि ₹1.49 लाख करोड़ है। यह लगातार पांचवां महीना है जब संग्रह ₹1.4 लाख करोड़ से ऊपर रहा है।
इससे पहले कांग्रेस ने महंगाई पर सरकार को घेरा। कांग्रेस के अधिकांश सांसदों ने संसद में कहा कि महंगाई 14 महीने से दोहरे अंक में है। तीस वर्षों में इतनी महंगाई कभी नहीं बढ़ी थी। हालांकि सत्ता पक्ष अपने ही तर्कों से इससे असहमति जता रहा था। सदन में सोमवार को महंगाई पर बहस तभी शुरू हो चुकी, जब लोकसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के चार सांसदों का निलंबन वापस ले लिया।

संसद में बैंगन खायाः तृणमूल कांग्रेस की सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने लोकसभा में महंगाई पर बहस के दौरान बैंगन दिखाकर उसे खाया और कहा कि गरीब आदमी अब बैंगन खाकर गुजारा कर रहा है। काकोली घोष दस्तीदार ने कहा, मैं महंगाई पर बहस की अनुमति देने के लिए अध्यक्ष को धन्यवाद देती हूं। लेकिन लंबा इंतजार करना पड़ा। उन्होंने सवाल किया कि क्या सरकार चाहती है कि हम कच्ची सब्जियां खाएं। पिछले कुछ महीनों में रसोई गैस सिलेंडर के दाम चार बार बढ़ाए गए हैं। 600 से यह अब 1,100 पर पहुंच गया है। सांसद ने कहा कि सिलेंडर की दरों को कम किया जाना चाहिए।

मोदी जी ने गरीबों का ख्याल रखाः दुबे

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने महंगाई पर चर्चा के दौरान कहा कि पूरी दुनिया में प्रोडक्शन गिरा है। किसानों ने फसलें कम बोई हैं। क्या हमने उनसे फसल कम बोने को कहा, क्या हमने रूस-यूक्रेन युद्ध शुरू किया। पूरी दुनिया में कोविड और इन कारणों से महंगाई बढ़ी है। भारत उससे कैसे अछूता रह सकता है। उन्होंने कहा कि हम लोगों को तो उल्टा प्रधानमंत्री मोदी को बधाई देना चाहिए कि उनके कारण 80 करोड़ लोगों को दो वक्त का भोजन मिल सका। कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी समेत कई सदस्यों ने आपत्ति जताई।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें