loader

पत्रकार दानिश सिद्दीकी को फिर मिला पुलित्जर सम्मान

पत्रकार दानिश सिद्दीकी को एक बार फिर पुलित्जर सम्मान मिला है। बीते साल अफगानिस्तान में तालिबान और सुरक्षाबलों के बीच हुए संघर्ष में दानिश की मौत हो गई थी। दानिश को इस बार कोरोना के दौरान भारत में की गई उनकी कवरेज के लिए यह सम्मान मिला है। 

इससे पहले साल 2018 में भी उन्हें रोहिंग्या शरणार्थियों के संकट के मामले में पुलित्जर सम्मान से नवाज़ा गया था।

दानिश के साथ ही अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू और अमित दवे को भी यह पुरस्कार दिया गया है। पत्रकारिता, किताबों, ड्रामा और संगीत के लिए सोमवार को पुलित्जर सम्मान का एलान किया गया।

ताज़ा ख़बरें
दानिश भारत में रायटर्स के चीफ फोटोग्राफर के पद पर तैनात थे। उन्होंने जामिया मिल्लिया इस्लामिया से इकनॉमिक्स में ग्रेजुएशन और मास कम्युनिकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन किया था।
देश से और खबरें

दानिश सिद्दीकी ने फोटोग्राफर के तौर पर दुनिया भर में कई बड़े मामलों को कैमरे के जरिए लोगों तक पहुंचाया था। अफगानिस्तान और इराक में युद्ध के अलावा हांगकांग में हुए जबरदस्त प्रदर्शनों और नेपाल में भूकंप के दौरान भी उन्होंने बेहतर काम किया था।

दानिश सिद्दीकी की मौत उस वक्त हुई थी जब वह अफगान सेना के साथ ही चल रहे थे और युद्ध की तस्वीरें ले रहे थे। उनकी मौत अफगानिस्तान के कंधार जिले के स्पिन बोल्डक शहर में हुई थी। उनकी मौत पर तालिबान ने अफसोस जताया था। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें