loader
के. चंद्रशेखर राव, मुख्यमंत्री तेलंगाना

न्यायपालिका ही इन गद्दारों, राक्षसों और तानाशाहों से बचा सकती हैः केसीआर

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर तीखा हमला किया है। राव ने रविवार को कहा कि भारत में 'अघोषित आपातकाल' है।इसलिए मोदी सरकार को जाना चाहिए और एक गैर-बीजेपी सरकार आनी चाहिए।

उन्होंने कहा, इंदिरा गांधी को धन्यवाद, उन्होंने आपातकाल लगाया और उसकी घोषणा की। वो काफी साहसी थीं। वह एक प्रत्यक्ष, घोषित आपातकाल था। लेकिन आज भारत में एक अघोषित आपातकाल है। 
ताजा ख़बरें
केसीआर ने पैगंबर पर विवादित टिप्पणियों के लिए निलंबित बीजेपी नेता नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की कड़े शब्दों में टिप्पणियों का उल्लेख किया और दो जजों की तारीफ की। 
केसीआर ने कहा, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस परदीवाला, मैं आपको सलाम करता हूं। कृपया भारत को बचाने के लिए यही भावना बनाए रखें। देश के इन गद्दारों, राक्षसों और तानाशाहों से न्यायपालिका ही बचा सकती है। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पुराना वीडियो क्लिप चलाया गया जहां वह गिरते रुपये के बारे में भाषण दे रहे हैं, और रुपये को गिरने के लिए तत्कालीन यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं और जवाब मांग रहे हैं। 

मोदी जी, रुपया अब ₹80 को छूने वाला है। आप हमें जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं? हम वही सवाल पूछ रहे हैं जो आप यूपीए से बतौर गुजरात मुख्यमंत्री पूछा करते थे। तब तो रुपया इतना गिरा भी नहीं था।


-के. चंद्रशेखर राव, सीएम, तेलंगाना, रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में

एक अन्य क्लिप में, विभिन्न नेताओं को बीजेपी में शामिल होते दिखाया गया है। बीजेपी को "वाशिंग पाउडर निरमा" करार देते हुए केसीआर ने आरोप लगाया कि नेताओं के बीजेपी में शामिल होने के बाद उन पर मारे गए छापे रुक गए। लेकिन जब तक वो नेता बीजेपी में नहीं आए थे, उन पर जांच एजेंसियों के छापे पड़ रहे थे। वीडियो क्लिप में एटाला राजेंदर, सुजाना चौधरी, सीएम रमेश, हेमंत बिस्वा सरमा और मुकुल रॉय शामिल हैं।
महाराष्ट्र में हाल के नाटकीय राजनीतिक घटनाक्रम पर, तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने पूछा कि क्या बीजेपी "एकनाथ शिंदे की निर्माता" है। शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे ने हाल ही में बीजेपी के समर्थन से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, जिससे पार्टी के उद्धव ठाकरे गुट अल्पमत में आ गया। केंद्र के इस अहंकार का क्या यही कारण है कि वे सरकारों को गिरा सकते हैं? महाराष्ट्र की नई सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने लोगों को कल बिजली दरों में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी का "उपहार" दिया।

तेलंगाना के सीएम ने तमिलनाडु बीजेपी प्रमुख अन्नामलाई की टिप्पणियों का का भी जवाब दिया। तमिलनाडु का बीजेपी अध्यक्ष कह रहा है कि केसीआर का उद्धव ठाकरे की तरह हाल होगा। अगले विधानसभा चुनाव में तेलंगाना में बीजेपी सत्ता में आएगी। केसीआर ने कहा कि डीएमके ने अपने राज्य में दो-तिहाई बहुमत के साथ जीत हासिल की, जबकि के. अन्नामलाई अपनी सीट तक नहीं जीत सके। 

तेलंगाना में, हम तीन-चौथाई बहुमत से जीते और बीजेपी ने एक सीट जीती। अब हमारी ताकत 103 है, और हमारे मित्र दलों के साथ हमारे पास 117 में से 110 विधायक हैं ... और आप हमें एकनाथ शिंदे जैसी धमकी देते हैं? क्या यह लोकतंत्र है या साजिश। यह कैसा अहंकार है?


-के. चंद्रशेखर राव, सीएम, तेलंगाना, रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मजाक उड़ाते हुए केसीआर ने कहा कि उनके राज्य की प्रति व्यक्ति आय तेलंगाना की एक चौथाई है, फिर भी वो (योगी) राज्य में लोगों को सलाह देने आते हैं।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी भारत के अब तक के "सबसे कमजोर पीएम" हैं। ईंधन की कीमतों में नियमित वृद्धि से लेकर बढ़ती बेरोजगारी, कई घोटाले, और घृणा अपराधों के लिए पीएम जवाबदेह हैं।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें