loader
बॉलीवुड कलाकार तुनिषा शर्मा और शीजान खान

बॉलीवुडः टीवी एक्ट्रेस की खुदकुशी में साथी कलाकार अरेस्ट 

टीवी एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा की खुदकुशी के मामले में मुंबई की वालीव पुलिस ने उनके सह-कलाकार और कथित प्रेमी शीजान खान को गिरफ्तार कर लिया है। तुनिषा शर्मा की मां ने शीजान खान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उसके बाद पुलिस ने खुदकुशी के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया।
एसीपी चंद्रकांत जाधव ने बताया कि वालिव पुलिस ने एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा के सह कलाकार शीजान खान को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया है। हम इसकी जांच कर रहे हैं।

ताजा ख़बरें
वालीव पुलिस ने कहा कि शीजान खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसे आज रविवार को अदालत में पेश किया जाएगा।
एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा ने शनिवार को एक टीवी सीरीज के सेट पर आत्महत्या कर ली। वह 20 साल की थीं। तुनिषा सेट के मेकअप रूम में पंखे से लटकी मिली थी। उन्हें तुरंत नायगांव, वसई में रेंग कार्यालय अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
वालीव पुलिस के मुताबिक, उन्हें सूचना मिली कि चाय ब्रेक के बाद एक्ट्रेस वॉशरूम गईं और जब वो वापस नहीं आईं तो पुलिस ने दरवाजा तोड़ा और पाया कि उन्होंने कथित तौर पर फांसी लगा ली है। पुलिस ने मौके पर जांच की और कहा कि कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है जबकि आत्महत्या का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। उसके आत्महत्या के प्रयास का कारण अभी भी अज्ञात है, लेकिन एक्ट्रेस की मां ने बेटी के कथित ब्वॉयफ्रेंड शीजान मोहम्मद खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी।  
तुनिषा शर्मा ने अभिनय की शुरुआत 'भारत का वीर पुत्र-महाराणा प्रताप' से की थी। उन्होंने 'इश्क सुभान अल्लाह', 'गब्बर पूंछवाला', 'शेर-ए-पंजाब: महाराजा रणजीत सिंह' और 'चक्रवर्ती अशोक सम्राट' जैसे शो में भी काम किया। वह 'फितूर', 'बार बार देखो', 'कहानी 2: दुर्गा रानी सिंह' और 'दबंग 3' सहित बॉलीवुड फिल्मों में भी दिखाई दीं थीं।
महाराष्ट्र से और खबरें

शीजान मोहम्मद खान एक टीवी अभिनेता हैं, जिन्हें जोधा अकबर में युवा अकबर/सुल्तान मुराद मिर्जा के रूप में और अब अली बाबा: दास्तान-ए-काबुल में अली बाबा के रूप में जाना जाता है। उनका जन्म 9 सितंबर 1994 को हुआ था और उन्होंने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 2013 में ऐतिहासिक नाटक जोधा अकबर से की थी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें