loader

महाराष्ट्र: निकाय चुनाव में आघाडी के दलों को मिली बड़ी जीत

महाराष्ट्र में 106 स्थानीय निकायों के लिए हुए चुनाव में महाविकास आघाडी सरकार में शामिल दलों ने अधिकतर जगहों पर कब्जा जमाया है। शरद पवार की अगुवाई वाली एनसीपी को 25 पंचायतों में, कांग्रेस को 18, शिवसेना को 14 और बीजेपी को 24 पंचायतों में जीत मिली है। 10 जगहों पर बाकी दलों के और निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं। 

महाविकास आघाडी सरकार में शामिल दल कई जगहों पर मिलकर चुनाव लड़ रहे थे। निकाय चुनाव के नतीजे बताते हैं कि आधे से ज्यादा स्थानीय पंचायतों में इन दलों को जीत मिली है। 

हालांकि बीजेपी को इन निकायों में सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं। उसे 1802 सीटों में से 416 पर कामयाबी हासिल हुई है।

ताज़ा ख़बरें
एनसीपी को 378, शिवसेना को 301 और कांग्रेस को 297 सीटें मिली हैं। महाविकास आघाडी के दलों को 976 सीटों पर जीत मिली है और निश्चित रूप से बीजेपी इसमें काफी पीछे रह गई है। 

पिछले साल दिसंबर में सुप्रीम कोर्ट ने स्थानीय निकाय के चुनाव में 27 फ़ीसदी ओबीसी आरक्षण पर रोक लगा दी थी। इसके बाद इन सीटों को सामान्य सीटों में बदल दिया गया था। 

चुनाव नतीजों पर एनसीपी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि इससे पता चलता है कि कई जगहों पर जनता ने महाविकास आघाडी के दलों को चुना है। जबकि बीजेपी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि धनबल के बेजा इस्तेमाल के बावजूद महाराष्ट्र के लोगों ने बीजेपी का साथ दिया है।

महाराष्ट्र से और खबरें

बीएमसी चुनाव 

महाराष्ट्र में जल्द ही बृहन्मुंबई महा नगरपालिका यानी बीएमसी के चुनाव होने वाले हैं। इस चुनाव में भी महाविकास आघाडी के दलों का साथ उतरना लगभग तय है। ऐसे में बीएमसी के चुनाव में भी बीजेपी की राह आसान नहीं होगी। हालांकि कांग्रेस ने कहा था कि वह बीएमसी के चुनाव में अकेले उतरेगी। ऐसा होने पर महाविकास आघाडी में शामिल दलों के वोटों में बिखराव होगा और इसका कुछ हद तक फायदा बीजेपी को मिल सकता है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें