loader

महाराष्ट्र संकट: उद्धव ठाकरे ने बुलाई सहयोगी दलों की बैठक

महाराष्ट्र में सियासी संकट की सुगबुगाहट के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज सहयोगी दलों की बैठक बुलाई है। राज्य के सियासी दिग्गजों और राज्यपाल के बीच हुई ताज़ा बैठकों के बाद किसी बड़े घटनाक्रम के होने की आशंका जताई जा रही है। महाराष्ट्र में शिवसेना कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के साथ मिलकर सरकार चला रही है। 

छह महीने पुरानी ठाकरे सरकार पर उद्धव के विधान परिषद का सदस्य निर्वाचित होने को लेकर चले घमासान के वक़्त से ही आफ़त आई हुई है। मुख्यमंत्री और राज्यपाल के बीच इस मुद्दे के अलावा राजभवन में नियुक्तियों को लेकर भी टकराव हो चुका है। 

ताज़ा ख़बरें

इस सबके बीच जैसे ही पूर्व मंत्री नारायण राणे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की, तमाम अटकलें सिर उठाने लगीं। इसके बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार राज्यपाल कोश्यारी से मिले। पवार ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ भी बैठक की है। हालांकि शिवसेना का कहना है कि ठाकरे सरकार स्थिर है लेकिन ऐसे नाजुक वक्त में उद्धव द्वारा सहयोगी दलों की बैठक क्यों बुलाई गई है, यह बड़ा सवाल है। 

शरद पवार ने भी कहा है कि महाराष्ट्र सरकार को कोई ख़तरा नहीं है लेकिन राज्यपाल से उनकी मुलाक़ात को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें
दूसरी ओर, विपक्षी दल बीजेपी ने ठाकरे सरकार पर कोरोना संकट से निपटने में फ़ेल रहने का आरोप लगाते हुए हल्ला बोला हुआ है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की बढ़ती सक्रियता भी कई सवाल खड़े कर रही है हालांकि उन्होंने कहा है कि उन्हें सरकार बनाने की कोई जल्दी नहीं है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें