loader

महाराष्ट्र: लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा, पर 'मिशन बिगिन अगेन' के लिए नियमों में ढील

तेज़ी से बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच ही महाराष्ट्र में लॉकडाउन को तो बढ़ाया ही गया है, लेकिन साथ में नियमों में ढील देने की घोषणा भी कर दी गई है। लॉकडाउन को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है, पर साथ ही नियमों में ढील देने के लिए 'मिशन बिगिन अगेन' यानी 'फिर से शुरू करें मिशन' शुरू किया गया है। इसका मतलब है कि कंटेनमेंट ज़ोन में सख़्ती रहेगी और बाक़ी के क्षेत्रों में चरणबद्ध तरीक़े से बाज़ार और दूसरी गतिविधियों को खोला जाएगा। 

नियमों में ढील की घोषणा ऐसे समय की गई है जब महाराष्ट्र देश में कोरोना वायरस से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य है और यहाँ हर रोज़ सबसे ज़्यादा संक्रमित लोगों की संख्या आ रही है। राज्य में संक्रमित लोंगों की संख्या 65 हज़ार 168 हो गई है और मृतकों की संख्या एक हज़ार से ज़्यादा हो गई है। फ़िलहाल राज्‍य में 3,169 कंटेनमेंट ज़ोन हैं।

ताज़ा ख़बरें

राज्य में 'मिशन बिगिन अगेन' तीन जून से शुरू होगा और तीन चरणों में आठ जून तक इसे अमल में लाया जाएगा। 8 जून की स्थिति के बाद सरकार यह तय करेगी कि किस तरह से नियमों में छूट देनी है। महाराष्‍ट्र में जरूरी कामों को छोड़कर पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। केंद्र सरकार द्वारा देश भर में कई रियायतें देते हुए अनलॉक-1 और 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करने के बाद महाराष्ट्र सरकार का यह फ़ैसला आया है। 

नए दिशानिर्देशों के तहत महाराष्ट्र सरकार ने आसपास में सार्वजनिक जगहों पर साइकिल चलाने, जॉगिंग करने, वाकिंग और दौड़ने जैसी गतिविधियों की अनुमति दी है। सरकार द्वारा जारी आदेश में कहा गया है, 'लोगों को शारीरिक व्यायाम के रूप में सक्रिय रूप से साइकिल चलाने को प्रोत्साहित किया जाता है क्योंकि यह अपने आप में सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करता है।'

सभी रेड ज़ोन में निजी कार्यालय अब अपनी क्षमता के 10% पर काम कर सकते हैं, शेष कर्मचारियों को घर से काम करना होगा। 

प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, तकनीशियन, कीट नियंत्रक और अन्य स्वरोज़गार में लगो लोगों को अपने व्यापार को चलाने की अनुमति होगी।

खेल परिसरों और स्टेडियमों को 3 जून से अनुमति दी जाएगी, जबकि दुकानें 5 जून से और निजी कार्यालय 8 जून से काम करना शुरू कर सकते हैं। 5 जून से बाज़ारों और दुकानों को ऑड-ईवन आधार पर खोलने की अनुमति होगी। टैक्सी, रिक्शा और कैब संचालकों को एक के बजाय दो यात्रियों के साथ आने-जाने की अनुमति होगी।

महाराष्ट्र से और ख़बरें

एक केस भी नहीं छिपना चाहिए: उद्धव

राज्‍य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अफ़सरों को निर्देश दिया कि महाराष्‍ट्र में कोरोना का एक भी मामला जनता से छिपाया न जाए। उन्होंने कहा, 'यह सच है कि कुछ मामले सामने आएँगे लेकिन हम समय रहते उन पर कार्रवाई करेंगे। मैंने पहले दिन से ही अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना के एक भी मामले को न छिपाया जाए।'

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें