loader

आम लोगों के लिए 1 फ़रवरी से चलेंगी मुंबई की लोकल ट्रेनें

मुंबई की 'लाइफ़ लाइन' कही जाने वाली लोकल ट्रेनें एक फ़रवरी से शुरू हो जाएँगी। पिछले साल मार्च में कोरोना संक्रमण फैलने के दौरान लॉकडाउन में ट्रेनें बंद की गईं। यानी क़रीब 9 महीने बाद एक फिर से मुंबई की ज़िंदगी पटरी पर आने को तैयार है। मुंबई में ट्रेन लाखों लोगों के लिए यात्रा का प्रमुख साधन है। 

हालाँकि, ट्रेनों की शुरुआत आम लोगों के लिए कई चरणों में की जाएगी और शुरुआत में एक निश्चित समय पर ही ट्रेनें चलेंगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी घोषणा की है। 

ताज़ा ख़बरें

ट्रेनें सुबह शुरू होने से लेकर सुबह 7 बजे तक, दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक और 9 बजे रात से आख़िरी ट्रेन संचालित होने तक चलाई जाएँगी। उस दौरान केवल उन आवश्यक सेवाओं जैसे - फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर स्टाफ़, एकल महिला यात्रियों और राज्य सरकार के विशेष पास वाले लोगों को यात्रा करने की अनुमति होगी। राज्य से रेल मंत्री को किए गए अनुरोध के बाद महिलाओं को पिछले साल अक्टूबर में अनुमति दी गई थी।

महाराष्ट्र सरकार ने मध्य और पश्चिम रेलवे को पत्र लिखकर 1 फ़रवरी से आम आदमी के लिए लोकल ट्रेन शुरू करने की मांग की थी। सरकार ने अपने इस पत्र में लिखा कि लोकल ट्रेन में आम आदमी को ऐसे समय में सफर करने की इजाज़त दी जाए, जिससे लोकल में ज़्यादा भीड़ भाड़ न होने पाए। 

पिछले साल जब ट्रेनों को कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए बंद कर दिया गया था तो एकाएक से ज़िंदगियाँ थम गईं। ऐसा इसलिए कि ट्रेनें वहाँ हर रोज़ लाखों लोगों, ख़ासकरत कमज़ोर वर्ग के लोगों के लिए यात्रा का सबसे अहम साधन है।

कोरोना संक्रमण से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में देश में महामारी शुरू होने के बाद से 20 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। 50 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई है। हालाँकि अब हालात सुधरते दिख रहे हैं। अब राज्य में क़रीब 44,000 पॉजिटिव लोग हैं। दूसरे कोरोना का टीका आ जाने के बाद से चिंताएँ कम हुई हैं। 

mumbai local trains to open on 1 february  - Satya Hindi
कोरोना टीकाकरण की शुरुआत हो गई।

हालात सुधरने की वजह से ही लोग ट्रेनें शुरू करने की माँग कर रहे थे। तमाम राजनीतिक पार्टियाँ और नागरिक संगठन इस बात की माँग समय-समय पर सरकार से करते रहे थे। लेकिन कोरोना के संभावित ख़तरे को देखते हुए सरकार इसको मंजूरी नहीं दे रही थी। 

इस बीच कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस बात के संकेत दिए थे कि आम आदमियों के लिए भी लोकल ट्रेन को जल्द ही शुरू किया जाएगा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें