loader

मोदी सरकार-2 का एक साल, बीजेपी 1000 कॉन्फ़्रेंस में बताएगी कोरोना पर 'उपलब्धि'

मोदी सरकार-2 के एक साल पूरा होने पर बीजेपी देश भर में ऑनलाइन रैली करेगी और 1000 से ज़्यादा ऑनलाइन कॉन्फ़्रेंस करेगी। रिपोर्टों में कहा गया है कि इसमें इसका बखान किया जाएगा कि मोदी सरकार ने किस तरह से कोरोना संकट पर काबू पाने में 'सफलता' पाई है और 20 लाख करोड़ के पैकेज का गुणगान किया जाएगा। 

रिपोर्ट है कि इसी महीने 30 तारीख़ को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा इस कार्यक्रम को शुरू करेंगे। यह सब ऑनलाइन होगा और जेपी नड्डा का कार्यक्रम भी सोशल मीडिया पर ही होगा। 

ताज़ा ख़बरें

'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' ने सूत्रों के हवाले से ख़बर दी है कि इस कार्यक्रम के तहत सोशल मीडिया के माध्यम से देश के नाम संबोधित प्रधानमंत्री मोदी के एक पत्र को कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में लोगों तक पहुँचाया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार पार्टी क़रीब एक करोड़ बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं को प्रधानमंत्री के पत्र को उन क्षेत्र के लोगों तक पहुँचाने में लगाया जाएगा जो वायरस प्रभावित नहीं हैं। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि सोशल मीडिया के माध्यम से पार्टी के वरिष्ठ नेता लोगों तक पहुँचने का प्रयास करेंगे और उनसे संपर्क साधेंगे। टीओआई ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि इसमें वायरस को रोकने, विशेष पैकेज और 'आत्म निर्भर भारत' का भी बखान किया जाएगा। 

राजनीति से और ख़बरें

बता दें कि मोदी सरकार और बीजेपी कोरोना वायरस को रोकने में लॉकडाउन को सफल बता रही है। अर्थव्यवस्था को उबारने को लेकर इसने 20 लाख करोड़ के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की है और 'आत्मनिर्भर भारत' योजना पेश की है। प्रधानमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा था, ‘यह पैकेज हमारे लघु, मझोले उद्योगों के लिए है, यह पैकेज उस श्रमिक, किसान के लिए है, जो देशवासियों के लिए दिन-रात परिश्रम करता है। यह पैकेज उस वर्ग के लिए है जो दिन-रात मेहनत करता है और ईमानदारी से टैक्स देता है।’

प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई दिनों तक उस घोषणा के बारे में विस्तृत जानकारी दी थी। इसके बाद आर्थिक मामलों के जानकारों ने इस घोषणा पर सवाल उठाए और इसे नाकाफ़ी बताया। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें