loader
फ़ाइल फ़ोटो

पूरे उत्तर प्रदेश में रविवार को रहेगा पूर्ण लॉकडाउन

कोरोना संक्रमण की बेहद तेज़ रफ़्तार को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फ़ैसला लिया है। प्रदेश में अब हर रविवार को पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान ज़रूरी सेवाओं के लिए निकलने वालों को ही छूट मिलेगी। यह पूर्ण लॉकडाउन शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लागू रहेगा। इस दौरान पूरे प्रदेश में सैनिटाइजेशन का काम किया जाएगा। 

इसके अलावा मास्क न पहनने पर 1000 रुपये का जुर्माना लगेगा और अगर किसी व्यक्ति को दूसरी बार बिना मास्क के पकड़ा गया तो उस पर 10 हज़ार रुपये का जुर्माना लगेगा। 

उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 22,439 नए मामले दर्ज किए गए और इस दौरान 114 लोगों की मौत हुई। राज्य में अब तक 9,480 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है और 7,66,360 इतने लोग संक्रमित हो चुके हैं। बीते दिन संक्रमण का आंकड़ा 20,510 और मौतों का आंकड़ा 67 था। राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या 1,29,848 है।

ताज़ा ख़बरें

लखनऊ में कोरोना संक्रमण की स्थिति भयावह हो गयी है। इसके अलावा कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी में भी संक्रमण तेज़ गति से बढ़ रहा है। लखनऊ के बैकुंठ धाम और भैंसा गृह श्मशान घाट में हालात बेहद ख़राब हैं। 

शवदाह के लिए लकड़ियां ख़त्म हो चुकी हैं हालांकि प्रशासन कह रहा है कि ऐसा नहीं है। यही हाल कई कब्रिस्तानों का भी है और वहां बीते कुछ दिनों में बड़ी संख्या में शव आ रहे हैं और गड्ढे खोदने का काम जारी है। 

लखनऊ के कई फ़ोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं जिसमें एक ही साथ कई चिताएं जल रही हैं। लखनऊ में कई बाजारों की एसोसिएशन ने ख़ुद ही बाजारों को बंद रखने का फ़ैसला लिया है। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का एलान 

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने अहम फ़ैसला लिया है। सरकार ने दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का एलान कर दिया है। गुरूवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के बीच काफी देर तक बैठक चली और इसमें यह फ़ैसला लिया गया। मतलब कि दिल्ली में शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। जिस रफ़्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उसमें इस तरह के क़दम उठाना ज़रूरी माना जा रहा था। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें