loader

मोदी ने ममता पर किया निजी हमला, उड़ाया स्कूटी चढ़ने का मजाक

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के पहले राजनीतिक सरगर्मी इतनी बढ़ गई है कि घात-प्रतिघात से बढ़ कर कटुता और निजी हमले तक बात पहुँच गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निजी हमले किए और उन पर तंज किए। 

कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रविवार को जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, 

"दीदी, यह तो अच्छा हुआ कि आप स्कूटी से गिर नहीं गईं, यदि आप गिर जाती तो जिस राज्य में वह स्कूटी बनी होती, उसे ही अपना दुश्मन बना लेतीं।"


नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

दीदी बन गईं बुआ

कुछ दिन पहले ममता बनर्जी ने पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी कीमतों पर अपना विरोध जताने के लिए अपने घर से राज्य सचिवालय तक बिजली की स्कूटी से गईं थीं। मोदी उसी पर तंज कर रहे थे। 

इसी तरह प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर तंज करते हुए कहा कि "आप राज्य की दीदी थीं, लेकिन किसी एक की बुआ बन कर रह गईं।" मोदी का इशारा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की ओर था। 

ख़ास ख़बरें

परिवर्तन का भरोसा

नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर राज्य में 'आशोल परिबोर्तन' (असली बदलाव) का नारा उछाला और कहा कि परिवर्तन के नाम पर वाम मोर्चो को हटा कर राज्य की सत्ता पर दीदी ने कब्जा तो कर लिया, लेकिन परिवर्तन नहीं हुआ। उन्होंने कहा,  "मैं ब्रिगेड ग्राउंड से आपको इस आशोल परिबोर्तन  का विश्वास दिलाने आया हूँ। बंगाल के विकास का विश्वास, बंगाल में स्थितियों के बदलने का विश्वास, बंगाल में निवेश बढ़ने का विश्वास, बंगाल के पुनर्निर्माण का विश्वास, बंगाल की संस्कृति की रक्षा का विश्वास।"

उन्होंने निवेश लाने की बात कही, युवाओं को रोज़गार देने का आश्वासन दिया, सबके विकास का भरोसा दिया। मोदी ने कहा,

"मैं विश्वास दिलाने आया हूँ कि आपके लिए, यहाँ के नौजवानों के लिए, किसानों, उद्यमियों, यहां की बहनों-बेटियों के विकास के लिए हम 24 घंटे दिन रात मेहनत से काम करेंगे।"


नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

सबका विकास

प्रधानमंत्री ने 'सबका साथ, सबका विकास' के नारे को उछालते हुए कहा कि उत्तर बंगाल हो या दक्षिण बंगाल, पश्चिमांचल हो या जंगलमहल, आदिवासी हो या दलित, पिछड़े, शोषित, वंचित या हमारे शरणार्थी भाई बहन, सभी पर बराबर ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' शासन का मंत्र होगा। जहाँ उन्नयन सबका होगा, तुष्टिकरण किसी का नहीं।

modi taunts mamata banerjee before west bengal assembly election 2021 - Satya Hindi

घुसपैठ

प्रधानमंत्री ने घुसपैठ की भी चर्चा की और कहा कि घुसपैठ और घुसपैठियों को रोका जाएगा। उन्होंने इस पर विस्तार से कुछ नहीं कहा, पर उनका इशारा बांग्लादेश से होने वाले घुसपैठ की ओर ही है। यह असम में एक मुद्दा हो सकता है, पश्चिम बंगाल में नहीं है। 

सिंडीकेट

मोदी ने एक बार फिर 'सिंडीकेट' और 'कट मनी' का मुद्दा उठाते हुए तृणमूल कांग्रेस को घेरने की कोशिश की। उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के लोगों की इनकी कमीशनखोरी की वजह से कोलकाता एयरपोर्ट से जुड़े कई काम रुके हुए हैं। ऐसे रुके हर काम को बीजेपी सरकार में तेज गति दी जाएगी।

मोदी ने स्मार्ट सिटी का मुद्दा उठाया और कहा कि यहां के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को बीजेपी सरकार में नई ऊर्जा मिलेगी। उन्होंने पश्चिम बंगाल में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विस्तार पर बल देते हुए कहा कि इंजीनियरिंग, टेक्नॉलॉजी, ऐसे विषयों की पढ़ाई, बांग्ला भाषा में भी हो, इस पर भी जोर दिया जाएगा। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पश्चिम बंगाल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें