loader

कैलाश विजयवर्गीय का नज़दीकी राकेश सिंह ड्रग्स मामले में गिरफ़्तार

ड्रग्स के मामले में पश्चिम बंगाल बीजेपी की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। इसके साथ ही राज्य बीजेपी के अंदर की लड़ाई खुल कर सामने आ गई है। ड्रग्स के मामले में पकड़ी गई पामेला गोस्वामी ने आरोप लगाया है कि पार्टी ने उन्हें फंसाया है, इसके लिए उनके पास पुख़्ता सबूत हैं। इस मामले में बीजेपी कार्यकर्ता राकेश सिंह को गिरफ़्तार किया गया है।

राकेश सिंह पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के नज़दीक समझे जाते हैं। 

ख़ास ख़बरें

क्या कहना है पामेला का?

पामेला गोस्वामी के बयान पर पुलिस ने राज्य बीजेपी के राकेश सिंह को बर्द्धमान ज़िले के गलसी से गिरफ़्तार किया है। पामेला 90 ग्राम कोकेन के साथ पक़ड़ी गई थीं, उन्होंने पुलिस की पूछताछ के दौरान राकेश सिंह का नाम लिया था। पामेला गोस्वामी पश्चिम बंगाल भारतीय जनता युवा मोर्चा की महासचिव हैं। 

पश्चिम बंगाल पुलिस ने राकेश सिंह के दो बेटों को इस आधार पर गिरफ़्तार कर लिया है कि उन्होंने पुलिस के लोगों को अपने घर घुसने से रोका था। पुलिस के पास गिरफ़्तारी का वारंट नहीं था, जो उन्होंने बाद में दिखाया। 

पामेला गोस्वामी ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल बीजेपी के लोगों ने उन्हें ड्रग्स मामले में फंसा दिया है, वे निर्दोष हैं। उन्होंने एनडीटीवी से कहा,

“मुझे किसी मामले में फँसाने की कोशिश वे लंबे समय से कर रहे थे। राकेश सिंह ने यह किया है। मेरे पास बहुत जानकारी है। मेरे पास पुख़्ता सबूत है।”


पामेला गोस्वामी, महासचिव, पश्चिम बंगाल भारतीय जनता युवा मोर्चा

माइंड गेम!

कोलकाता पुलिस ने राकेश सिंह को ड्रग्स मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन उन्होंने कहा था कि वे ज़रूरी काम से दिल्ली जा रहे हैं और उनका वकील पुलिस से मिलेगा। 

मंगलवार को जब पुलिस राकेश सिंह के कोलकाता स्थित घर पर पहुँची तो उनके बेटों ने पुलिस वालों को अंदर नहीं घुसने दिया और वारंट दिखाने को कहा। पुलिस वालों के पास गिरफ़्तारी वारंट नहीं था।

यह मामला उस दिन हुआ, जिस दिन केंद्रीय जाँच ब्यूरो ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक की पत्नी से कथित कोयला घोटाले में पूछताछ की।

समझा जाता है कि बीजेपी और टीएमसी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के पहले ‘माइंड गेम’ खेल रही हैं और दोनों एक-दूसरे को किसी मामले में उलझा कर बैकफ़ुट पर धकेलना चाहती हैं।
इस बार के विधानसभा चुनाव में बीजेपी बड़ी दावेदार बन कर उभर रही है जबकि तृणमूल कांग्रेस 10 सालों से राज्य में सरकार चला रही है। 
याद दिला दें कि पामेला को बीते शुक्रवार दक्षिण कोलकाता में उनके दोस्त और एक सुरक्षाकर्मी के साथ 90 ग्राम कोकीन रखने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक़, कोकीन की क़ीमत 10 लाख रुपये है और यह पामेला की कार में रखी थी। तीनों के ख़िलाफ़ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुक़दमा दर्ज किया गया है। 
पुलिस ने कहा था कि ऐसा संदेह है कि पामेला ड्रग्स की आपूर्ति और इसके इस्तेमाल में शामिल हैं। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या पामेला ड्रग्स की तस्करी करने वाले किसी रैकेट का हिस्सा हैं। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पश्चिम बंगाल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें