loader

बिहार: राहुल-तेजस्वी की रैलियों में भारी भीड़, एनडीए निशाने पर

बिहार के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की धुआंधार रैलियों के जवाब में कांग्रेस और आरजेडी ने भी ताल ठोक दी है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं। 

तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को हिसुआ में आयोजित रैली में एक बार फिर रोज़गार का मुद्दा उठाते हुए कहा कि अगर वे मुख्यमंत्री बने तो पहली कलम चलाकर 10 लाख लोगों को नौकरियां देंगे। तेजस्वी ने लोगों से कहा कि नया बिहार बनाना है और वे हर धर्म, जाति, वर्ग के लोगों को साथ लेकर चलने का काम करेंगे। इस रैली में तेजस्वी की बाक़ी रैलियों की तरह जबरदस्त भीड़ दिखाई दी। 

ताज़ा ख़बरें

उन्होंने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि आपको धर्म, जाति के नाम पर लड़ाने की कोशिश की जाएगी लेकिन आपको इनके बहकावे में नहीं आना है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 9 नवंबर को लालू रिहा होंगे और 10 नवंबर को नीतीश कुमार की विदाई होगी। 

आरजेडी नेता ने कहा कि ये लड़ाई नीतीश और तेजस्वी या मोदी और राहुल की नहीं है बल्कि ये लड़ाई तानाशाह सरकार और जनता के बीच है और वह और राहुल जनता के साथ खड़े हैं।  

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा कि वे सिर्फ़ अंबानी, अडानी जैसे पूंजीपतियों के साथ खड़े हैं। राहुल ने कहा कि लोगों को नोटबंदी के दौरान परेशानी हुई और सारा पैसा हिंदुस्तान के अमीर लोगों की जेब में चला गया। 

‘चीन को कब बाहर फेंकोगे’ 

राहुल ने पूछा, ‘चीन ने हिंदुस्तान की 1200 किमी. ज़मीन ली है। प्रधानमंत्री कहते हैं, मैं सिर झुकाता हूं लेकिन उन्होंने यह कहकर कि चीन भारत की सीमा में नहीं घुसा है, हिंदुस्तान की सेना का अपमान किया है। मोदी जी आप ये बताओ कि आप चीन को भारत की सीमा से कब बाहर फेंकोगे।’ 

उन्होंने कहा, ‘बिहार के किसानों-मजदूरों की सरकार यहां लानी है और एनडीए को हराना है। कोरोना के वक्त में बिहार के मजदूरों को दिल्ली और बाक़ी प्रदेशों से भगाकर बिहार भेजा। जब आप पैदल आ रहे थे, जब आप भूखे थे उन्होंने आपको नहीं पूछा।’ 

बिहार से और ख़बरें

मोदी भी बहा रहे पसीना

कांग्रेस और आरजेडी के युवा तुर्कों के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी एनडीए की जीत के लिए पूरा जोर लगाया है। तेजस्वी की रैलियों में उमड़ रही भारी भीड़ के जवाब में एनडीए को सिर्फ मोदी का ही सहारा है क्योंकि कुछ सर्वे में यह बात सामने आई है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लोगों में नाराजगी बढ़ी है। 

bihar mahagahthbandhan rally in election 2020 - Satya Hindi
चुनावी रैली में पीएम मोदी।

कांग्रेस-आरजेडी पर हमला

सासाराम में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि विपक्ष भारत को कमजोर करने की साज़िश रच रहे लोगों का साथ देने से भी नहीं हिचकिचाता। धारा 370 के मसले को उठाते हुए मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि देश वर्षों से इसके हटने का इंतजार कर रहा था लेकिन ये लोग इसकी बहाली की बात कर रहे हैं। 

आरजेडी पर हमलावर होते हुए मोदी ने कहा, ‘इन लोगों ने 15 साल के शासनकाल में बिहार को लूटा और अपनी तिजोरियां भरीं। जब बिहार ने इन्हें बेदख़ल किया और नीतीश जी को मौक़ा दिया तो ये बौखला गए।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि इन लोगों ने 10 साल तक यूपीए की सरकार में रहते हुए बिहार के लोगों पर अपना ग़ुस्सा निकाला। 10 साल तक यूपीए सरकार के लोग नीतीश कुमार को काम नहीं करने देते थे। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें