loader

बिहार: मोदी के निशाने पर रहा लालू-राबड़ी का शासन 

बिहार के सासाराम और गया में एनडीए की चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को विपक्ष पर जोरदार हमला बोला। मोदी ने कहा कि विपक्ष भारत को कमजोर करने की साज़िश रच रहे लोगों का साथ देने से भी नहीं हिचकिचाता। धारा 370 के मसले को उठाते हुए मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि देश वर्षों से इसका इंतजार कर रहा था लेकिन ये लोग इसकी बहाली की बात कर रहे हैं। उन्होंने विपक्ष पर दलालों-बिचौलियों की भाषा बोलने का भी आरोप लगाया। 

निशाने पर आरजेडी 

आरजेडी पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा, ‘इन लोगों ने 15 साल के शासनकाल में बिहार को लूटा और अपनी तिजोरियां भरीं। जब बिहार ने इन्हें बेदख़ल किया और नीतीश जी को मौक़ा दिया तो ये बौखला गए।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि इन लोगों ने 10 साल तक यूपीए की सरकार में रहते हुए बिहार के लोगों पर अपना ग़ुस्सा निकाला। 10 साल तक यूपीए सरकार के लोग नीतीश कुमार को काम नहीं करने देते थे। 

मोदी ने कहा कि 10 साल तक यूपीए सरकार के लोग नीतीश कुमार को काम नहीं करने देते थे।

विकास कार्यों का बखान 

मोदी ने कहा, ‘नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी सड़क, पुलों पर हज़ारों करोड़ का काम चल रहा है। कनेक्टिविटी के साथ-साथ बक्सर के चौसा में 10 हज़ार के पावर प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘कनेक्टिविटी सुधरने से यहां के कारोबारियों, छात्रों, किसानों और हर वर्ग को फायदा मिलेगा। केंद्र सरकार गांवों में भंडारण और अन्य सुविधाओं पर लाखों करोड़ रुपये ख़र्च करने जा रही है।’ मोदी ने कहा कि बिहार को झारखंड से जोड़ने के लिए पुल बनाने का काम चल रहा है। 

ताज़ा ख़बरें

‘एनडीए की जीत ज़रूरी’

मोदी ने कहा कि बिहार में बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी पार्टी के गठबंधन यानी एनडीए की जीत ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि सभी दलों के कार्यकर्ता एकजुट होकर एनडीए की जीत के लिए ताक़त झोंक रहे हैं। मोदी ने कहा कि जो भी एनडीए का है, उसकी जीत के लिए हमारा साझा संकल्प है। 

मोदी ने कहा कि बिहार के लोग किसी भ्रम में नहीं रहते, उन्होंने स्पष्ट संदेश सुना दिया है। जितने सर्वे हो रहे हैं, रिपोर्ट आ रही हैं, सभी में यही आ रही है कि बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनने जा रही है।  

बिहार से और ख़बरें

गया की रैली में मोदी ने लालू-राबड़ी के शासनकाल पर निशाना साधते हुए कहा, ‘90 के दशक में बिहार को अराजकता और अव्यवस्था के किस दलदल में धकेल दिया, इसे आपने अनुभव किया है। वह कुशासन और अव्यवस्था आज भी बिहार की समस्याओं की जड़ में है।’ 

मोदी ने कहा कि एक दौर में रात को रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद लोग अपने घर नहीं जाते थे, गाड़ी नहीं खरीदते थे। उन्होंने कहा कि ये वो दौर था जब एक शहर से दूसरे शहर में जाते वक्त ये पक्का नहीं रहता था कि उसी शहर पहुंचेंगे या बीच में ही किडनैप हो जाएंगे। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें