loader

बिहार: एनडीए में सीट बंटवारे का एलान, जेडीयू को 115, बीजेपी को मिलीं 121 सीटें

महागठबंधन के बाद बिहार एनडीए ने भी सीटों के बंटवारे का एलान कर दिया है। 243 सीटों वाले बिहार में जेडीयू को 115 सीटें, बीजेपी को 121 सीटें और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा को 7 सीटें मिली हैं। बीजेपी इन सीटों में से मुकेश सहनी की विकासशील इंसान पार्टी को भी कुछ सीटें देगी। 

पटना में हुई प्रेस कॉन्फ्रेन्स के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, बिहार बीजेपी के प्रभारी देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद रहे। रात को बीजेपी ने अपने 27 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी। 

ताज़ा ख़बरें

तीन दिन पहले महागठबंधन ने जब विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे का एलान करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेन्स रखी थी, तो मुकेश सहनी इस दौरान बाहर निकल आए थे। उन्होंने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर उन्हें धोखा देने का आरोप लगाया था। अब वह एनडीए में जा चुके हैं। बीते एक महीने के अंदर ही सहनी के अलावा जीतन राम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा भी महागठबंधन का साथ छोड़कर जा चुके हैं। 

महागठबंधन में हुए सीट बंटवारे में आरजेडी को 144 सीटें मिली थीं जबकि कांग्रेस को 70 सीटें दी गई हैं। सीपीआई (एमएल) को 19, सीपीआई (एम) को 4 और सीपीआई को 6 सीटें दी गई हैं। आरजेडी कुछ सीटें झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) को भी देगी। झारखंड में कांग्रेस, आरजेडी और जेएमएम मिलकर सरकार चला रहे हैं। 

बिहार से और ख़बरें

‘नीतीश कुमार ही हैं चेहरा’ 

इस मौक़े पर सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने कोरोना महामारी के ख़िलाफ़ मजबूत लड़ाई लड़ी है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में हर वर्ग का विकास हुआ है और एनडीए सरकार ने पिछले 15 साल के कार्यकाल में बदहाल बिहार को ख़ुशहाल बिहार में बदला है। उन्होंने कहा कि बिहार में एनडीए के नेता और चेहरा नीतीश कुमार ही हैं। 

सुशील मोदी ने एलजेपी मुखिया चिराग पासवान को चेताते हुए कहा कि बिहार एनडीए गठबंधन में वही लोग रहेंगे जो नीतीश कुमार के नेतृत्व को स्वीकार करते हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम कोरोना की टेस्टिंग के मामले में दूसरे राज्यों से आगे हैं। नीतीश कुमार ने इशारों में कहा कि चिराग पासवान क्या बोल रहे हैं, उससे गठबंधन का कोई लेना-देना नहीं है। 

नीतीश ने आरजेडी पर हमला बोला और कहा कि उसके शासनकाल में बिहार में हत्याएं होती थीं, सामूहिक नरसंहार की घटनाएं होती थीं, न कोई सड़क थी, न कोई स्कूल-कॉलेज थे और टीचर्स को सैलरी तक नहीं मिलती थी। उन्होंने कहा कि एनडीए की सरकार ने हर वर्ग को विकास के साथ ही न्याय देने का भी काम किया है। 

10 नवंबर को आएंगे चुनावी नतीजे 

बिहार में तीन चरणों में चुनाव होंगे। पहले चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर, दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर और तीसरे चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर चुनाव होगा। पहले चरण का मतदान 28 अक्टूबर को, दूसरे चरण का मतदान 3 नवंबर को और तीसरे चरण का मतदान 7 नवंबर को होगा। चुनावी नतीजे 10 नवंबर को आएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की सदारत वाले महागठबंधन के बीच जोरदार मुक़ाबला होने की उम्मीद है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें