loader

मर्डर, मनी के हेरफेर की कहानी है 'अ सिंपल मर्डर'

वेब सीरीज़- अ सिंपल मर्डर

डायरेक्टर- सचिन पाठक

स्टार कास्ट- जीशान अयूब, प्रिया आनंद, सुशांत सिंह, यशपाल शर्मा, अमित सियाल, विक्रम कोच्चर

स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म- सोनी लिव

रेटिंग- 3.5/5

ओटीटी प्लेटफ़ॉर्म सोनी लिव पर वेब सीरीज़ 'अ सिंपल मर्डर' रिलीज़ हुई है। 'अ सिंपल मर्डर' यानी एक साधारण हत्या लेकिन सीरीज़ की कहानी उतनी भी साधारण नहीं है। एक मर्डर, 5 करोड़ रुपये और एक ख़ूनी के बीच घूमती है सीरीज़ की कहानी। इस वेब सीरीज़ का निर्देशन सचिन पाठक ने किया है और इसकी कहानी को अखिलेश जायसवाल और प्रतीक पायोधी ने लिखा है। लीड रोल में जीशान अयूब, प्रिया आनंद, सुशांत सिंह, अमित सियाल, विक्रम कोच्चर और भी कई स्टार हैं। तो आइये जानते हैं, क्या है वेब सीरीज़ 'अ सिंपल मर्डर' की कहानी-

ख़ास ख़बरें

कहानी

दिल्ली में मनीष (जीशान अयूब) अपनी पत्नी ऋचा (प्रिया आनंद) के साथ रहता है। मनीष स्टार्टअप शुरू करना चाहता है लेकिन पिछले 4 साल से उसका काम नहीं बन पा रहा है। इसी बीच मनीष को एक इन्वेस्टर का कॉल आता है, वो मिलने तो पहुँचता है लेकिन ग़लत पते पर। मनीष को पंडित (यशपाल शर्मा) नाम का आदमी मिलता है, जिसका सिर्फ़ नाम ही पंडित है लेकिन काम गैंगस्टर का है। पंडित मनीष को 5 लाख रुपये देते हुए एक लड़की को मारने की सुपारी दे देता है। मनीष पैसे देखते हुए लड़की की सुपारी ले लेता है लेकिन फिर वही होता है, जाना था जापान पहुँच गये चीन। मनीष ग़लत लड़की को मार देता है और उसके बाद आता है कहानी में ट्विस्ट। 

ट्विस्ट यह है कि हिम्मत (सुशांत सिंह) को उस लड़की को मारने की सुपारी लेनी थी और संतोष (अमित सियाल) जो एक सुपारी किलर था उसकी पत्नी को मनीष ने ग़लती से मार दिया था। ग़लत मर्डर करके मनीष हर तरफ़ से फँस जाता है। एक तरफ़ संतोष और हिम्मत उसके पीछे पड़े हैं तो दूसरी तरफ़ पंडित पीछे पड़ा है क्योंकि मनीष ने ग़लत लड़की को मार दिया है। अब मनीष अपनी जान किस तरह से बचायेगा? इसके साथ ही मनीष की पत्नी ऋचा का एक अलग अफ़ेयर चल रहा है मनीष को उसके बारे में कैसे पता चलेगा? क्या इन सभी झमेले से मनीष बच पायेगा? वेब सीरीज़ का क्लाइमेक्स जानने के लिए आपको सोनी लिव का गेट खटखटाना पड़ेगा। 7 एपिसोड की सीरीज़ है और हर एपिसोड 33 मिनट का है।

a simple murder review - Satya Hindi

निर्देशन

निर्देशक सचिन पाठक ने 'अ सिंपल मर्डर' की कहानी को अच्छे तरीक़े से पेश किया है। डार्क ह्यूमर मर्डर मिस्ट्री को निर्देशक ने काफ़ी मनोरंजक बनाया है और जिसमें आप ज़रा भी बोर नहीं होंगे। इसके अलावा लेखक ने सीरीज़ की कहानी में लव जिहाद और पैसों के लालच को भी दिखाया है।

एक्टिंग

मोहम्मद जीशान अयूब कहानी के मुख्य किरदार हैं और उन्होंने अपनी एक्टिंग से कहानी में जान डाल दी। जीशान अयूब एक बेहतरीन एक्टर हैं और उन्होंने सीरीज़ में काफ़ी अच्छी एक्टिंग की है। अमित सियाल और सुशांत सिंह की जोड़ी ने भी कमाल कर दिया। दोनों एक्टरों ने सीरियस किरदार के साथ शायरी और अपनी उम्दा एक्टिंग से पूरी तरह से न्याय किया है। प्रिया आनंद ने लालची किरदार को ठीक-ठाक तरीक़े से निभाया है। पंडित जी के रोल में यशपाल शर्मा का किरदार भले ही सीरीज़ में छोटा है लेकिन काफ़ी दमदार है। इसके अलावा स्टार अयाज ख़ान, गोपाल दत्त, विक्रम कोच्चर ने अच्छी एक्टिंग की है।

a simple murder review - Satya Hindi
सोनी लिव पर हमेशा से ही अच्छा कंटेंट देखने को मिलता रहा है फिर वो चाहे स्कैम 1992 हो या अनदेखी और गुल्लक। ऐसे ही अब सीरीज़ ‘अ सिंपल मर्डर’ रिलीज़ हुई है जो आपके वीकेंड के लिए परफेक्ट मनोरंजन का पैकेज है। सीरीज़ की कहानी अच्छी है और सबसे अच्छा है कि मर्डर जैसी सीरियस शैली की कहानी में कॉमेडी का तड़का लगाना। 'अ सिंपल मर्डर' में निगेटिव प्वॉइंट है कि कुछ सीन दोहराये गये हैं और कुछ सीन को बेवजह दिखाया गया है। कुल मिलाकर आप अपने वीकेंड पर सीरीज़ ‘अ सिंपल मर्डर’ को बिंज वॉच कर सकते हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
दीपाली श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

सिनेमा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें