loader
द क्रिएटर-सृजनहार का पोस्टर

द क्रिएटर- सृजनहार फिल्म का हिन्दू संगठन क्यों कर रहे हैं विरोध?

द केरला स्टोरी के बाद एक और फिल्म चर्चा में है। दक्षिणपंथी हिंदुत्ववादी बजरंग दल ने 26 मई को रिलीज होने जा रही फिल्म द क्रिएटर-सर्जनहार के खिलाफ यह कहते हुए विरोध किया कि यह 'लव जिहाद को बढ़ावा देती है।' 
गुरुवार को, बजरंग दल के सदस्यों ने गुजरात के अहमदाबाद में एक मल्टीप्लेक्स में द क्रिएटर-सर्जनहार नामक फिल्म के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने फिल्म के पोस्टर फाड़ डाले। सदस्यों ने फिल्म पर 'लव जिहाद को बढ़ावा देने' का आरोप लगाया।

ताजा ख़बरें
उसी पर प्रतिक्रिया देते हुए, फिल्म के निर्माता, राजेश कराटे गुरुजी ने एएनआई से कहा, "हमने यह दिखाने की कोशिश की है कि दुनिया बदल सकती है ... मैं किसी खतरे से नहीं डरता, वे (प्रदर्शनकारी) अपने धर्म से प्यार करते हैं और मेरे पास करने के लिए कुछ नहीं है। इसके साथ...मैं सभी धर्मों से अनुरोध करता हूं कि वे अपने धर्म के नाम पर दंगा या हिंसा न करें। आप धर्म की रक्षा के लिए किसी व्यक्ति को क्यों मारते हैं? धर्म को मारो और व्यक्ति की रक्षा करो। क्या आप अपने परिवार को खोना चाहते हैं?" 
फिल्म का ट्रेलर 10 मई को लॉन्च किया गया था। 'एक दुनिया, धर्म पर' की अवधारणा पर आधारित इस फिल्म का निर्माण और परिकल्पना राजेश कराटे गुरुजी ने की है। ट्रेलर लॉन्च इवेंट के दौरान दयानंद शेट्टी ने कहा, 'फिल्म की कहानी इतनी अनोखी और दमदार है कि मैंने तुरंत फिल्म के लिए हां कह दिया। यह फिल्म सरहदों के बिना दुनिया की बात करती है। मैं डॉ. रे नाम के एक वैज्ञानिक की भूमिका निभा रहा हूं, जो 'एक दुनिया एक धर्म' की अवधारणा में पूरी तरह से विश्वास करता है और अपने क्रांतिकारी विचारों से दुनिया को बदलना चाहता है। मुझे पूरा यकीन है कि लोग मेरे किरदार के साथ-साथ फिल्म को भी पसंद करेंगे।”

प्रवीण हिंगोनिया द्वारा अभिनीत, द क्रिएटर-सर्जनहार में एक शक्तिशाली स्टार कास्ट है जिसमें दयानंद शेट्टी, शाजी चौधरी, भुवनेश मैम, रोहित चौधरी, जश्न कोहली, रज़ा मुराद, हिमानी साहनी, एलिजा सहगल, बुशरा शेख, अनंत महादेवन, संजय स्वराज, प्रमोद महोतो शामिल हैं। यह फिल्म कल 26 मई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।

फिल्म की कहानी हिन्दू-मुस्लिम लड़के-लड़की की प्रेम कहानी है। इसमें सिख युवक की भी प्रेम कहानी है। लेकिन इसमें कुछ और भी है। जिसका पता कल शुक्रवार को फिल्म रिलीज होने के बाद पता चलेगा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

सिनेमा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें