loader

9 वर्षीय बच्ची की रेप-हत्या: परिजनों से मिल राहुल बोले- मैं उनके साथ खड़ा हूँ

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार सुबह पुराना नंगल श्मशान में 9 साल की बच्ची से कथित तौर पर रेप, हत्या के मामले में पीड़ित परिवारों से मुलाक़ात की। मुलाक़ात के बाद राहुल ने कहा, 'मैंने परिवार से बात की, वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं। वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए। हम ऐसा करेंगे। मैंने कहा है कि मैं उनके साथ खड़ा हूँ। न्याय मिलने तक उनके साथ खड़े हैं राहुल गांधी।' आरोप है कि 9 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया गया, उसकी हत्या कर दी गई और फिर उन कथित हमलावरों ने ही जबरन उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इस घटना को लेकर लोगों में जबरदस्त ग़ुस्सा है और लोग इसको उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई दलित लड़की के साथ गैंगरेप व हत्या की तरह घटना बता रहे हैं। 

इस मामले को लेकर एक दिन पहले ही राहुल गाँधी ने ट्वीट किया था। उन्होंने 9 साल की बच्ची की ख़बर के स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए ट्वीट में लिखा था, 'दलित की बेटी भी देश की बेटी है'।

बता दें कि यह शर्मनाक घटना दिल्ली के पुराने नंगल गांव के श्मशान घाट में रविवार को हुई। इस मामले में एक पुजारी और तीन अन्य आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया है। इस मामले में न्याय दिलाने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में आसपास के लोगों ने प्रदर्शन किया। पुलिस के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी भी की गई। पुलिस के अनुसार श्मशान घाट के सामने किराए पर नौ साल की नाबालिग लड़की अपने माता-पिता के साथ रहती थी। वह अपनी मां को बताकर श्मशान घाट के वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने गई थी। 

पुलिस के अनुसार, श्मशान घाट के पुजारी पंडित राधेश्याम और नाबालिग लड़की की मां को जानने वाले 2-3 अन्य लोगों ने उसे श्मशान में बुलाया और लड़की के शव को यह कहते हुए दिखाया कि वाटर कूलर से पानी पीने के दौरान उसे करंट लग गया था। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार पुलिस ने कहा कि बच्ची की माँ से पुजारी और 2-3 लोगों ने कहा कि अगर आप पीसीआर कॉल करते हैं तो पुलिस इसका मामला बनाएगी और पोस्टमॉर्टम में डॉक्टर लड़की के सभी अंगों को चुरा लेंगे। 
ताज़ा ख़बरें

इस मामले में परिजनों ने आरोप लगाया है कि उनकी बच्ची के शव को उसके माता-पिता की सहमति के बिना ही कथित तौर पर श्मशान घाट में जला दिया गया। 

मामले में एससी-एसटी कमिशन के साथ हुई बैठक के बाद पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धाराओं के अलावा एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। अब सभी चार आरोपियों- पुजारी राधेश्याम, सलीम, लक्ष्मीनारायण, कुलदीप को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तो इस मामले में दोषियों को फाँसी की सजा दिए जाने की पैरवी की है। उन्होंने यह भी कहा था कि वह बुधवार को पीड़िता के परिवार से मिलेंगे। 
इस मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को समन जारी किया है। 

पहले भी दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी पीड़िता परिजनों के आरोपों का ज़िक्र करते हुए कहा था कि उनका आरोप है कि बच्ची के साथ रेप के बाद शव को जलाया गया है। 

पुलिस का कहना है कि वह इस बात की भी जाँच कर रही है कि बच्ची की मौत के बाद क्या पंडित ने मृतक बच्ची की मां को 20 हजार रुपये देने की पेशकश की थी ताकि वह इस बारे में पुलिस को कुछ न बताएँ।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें