loader

क्या पाकिस्तान में हिंदुओं पर पुलिस ने लाठियाँ बरसाईं?

पाकिस्तान में हिंदू समुदाय के लोगों पर अत्याचार किया जा रहा है। इस दावे के साथ एक वीडियो सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है। वीडियो में दावा किया जा रहा है कि पाक पुलिस हिंदुओं को बेवजह पीट रही है। इस वीडियो को कई भाजपा समर्थक फे़सबुक पेजों पर शेयर किया गया है। जिसमें 'भाजपा मिशन 2019' 'नरेंद्र मोदी पीएम 2019' 'बजरंग दल चौमू नगर' फ़ेसबुक पेज शामिल हैं।
इसके अलावा दिनेश जोशी नाम के एक ट्विटर यूजर ने भी इसी वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि  'पाकिस्तान में एक हिंदू ने अपने घर के ऊपर भगवा झंडा लगाया था देखिए उसके साथ क्या किया गया?' आगे लिखा.. 'उन लोगों को कुछ नहीं किया जाता जो पाकिस्तान का झंडा भारत में आए दिन उठाते रहते हैं।' ट्विटर पर 'दिनेश जोशी' को प्रधानमंत्री 'नरेंद्र मोदी' और 'पीयूष गोयल कार्यालय' फाॅलो करते हैं।
police attacked on hindu community in pakistan viral video reality - Satya Hindi
इसी वीडियो को अशरफ नाम के एक यूजर ने भी ट्वीट किया लेकिन इन्होंने इस वीडियो को लेकर अलग दावा किया। अशरफ लिखते हैं 'यह पाकिस्तान इस्लामी देश है, पाक पुलिस एक ईसाई के घर पर छापा मार कर महिलाओं को बुरी तरह पीट रही है। अशरफ को भी ट्विटर पर पीयूष गोयल कार्यालय का आधिकारिक ट्विवटर हैंडल फाॅलो करता है। इसके अलावा इस वीडियो को कई और यूर्जस ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, 'अगर 2019 में नरेंद्र मोदी को नहीं लाओगे तो भारत में भी हिंदुओं का ऐसा ही हाल होगा।'
police attacked on hindu community in pakistan viral video reality - Satya Hindi

वीडियो की सच्चाई

इस वीडियो की सच्चाई को जानने के लिए जब हमने इंटरनेट पर ख़ोजबीन की, तो हमें 'बीबीसी हिंदी' पर 5 जनवरी 2019 को प्रकाशित एक ख़बर मिला। जिसका शीर्षक है 'पाकिस्तान में हिंदुओं की पिटाई वाले वायरल वीडियो का सच।' बीबसी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा, यह घटना पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित फ़ैसलाबाद में हुई थी जहाँ 'पाकिस्तान एलीट फ़ोर्स' के जवानों की एक टुकड़ी ने लोगों को ज़बरन उनके घरों में घुस-घुसकर पीटा था। बीबीसी ने आगे लिखा, फ़ैसलाबाद में बिजली की किल्लत को लेकर लोगों ने पाक प्रशासन से शिकायत की थी कि उन्हें दिन में 14-16 घंटे तक बिजली नहीं मिल रही है। इसे लेकर शहर में एक बड़ा प्रदर्शन हुआ और गुस्साए लोगों ने एक पेट्रोल पंप समेत सार्वजनिक संपत्ति को काफ़ी नुकसान पहुंचाया था। बाद में पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की और प्रदर्शनकारियों को उनके घरों से उठाकर उनकी पिटाई कर दी थी।

police attacked on hindu community in pakistan viral video reality - Satya Hindi
'बीबीसी हिंदी' प्रकाशित ख़बर

इसके अलावा इस पूरे मामले को पाकिस्तान के एक न्यूज़ चैनल दुनिया न्यूज़ ने भी कवर किया था। दुनिया न्यूज़ के मुताबिक जब यह प्रदर्शन उग्र होने लगा तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए लोगों पर लाठी चार्च की थी। इस घटना के बाद पाकिस्तान सरकार ने 5 पुलिस कर्मचारियों को को निलंबित भी किया था। 

police attacked on hindu community in pakistan viral video reality - Satya Hindi
पाकिस्तान की न्यूज़ साइट पर प्रकाशित ख़बर

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

असत्य से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें