loader
रुझान / नतीजे चुनाव 2023

राजस्थान 199 / 199

कांग्रेस
69
बीजेपी
115
अन्य
15

मध्यप्रदेश 230 / 230

बीजेपी
164
कांग्रेस
65
अन्य
1

छत्तीसगढ़ 90 / 90

कांग्रेस
35
बीजेपी
54
अन्य
1

तेलंगाना 119 / 119

बीआरएस
39
कांग्रेस
64
बीजेपी
8
अन्य
8

चुनाव में दिग्गज

एअर इंडिया ने शंकर मिश्रा पर लगाया चार महीने का प्रतिबंध 

26 नवंबर को न्यूयॉर्क से दिल्ली लौट रही एयर इंडिया की फ्लाइट में एक बुजुर्ग महिला पर पेशाब करने के आरोपी शंकर मिश्रा पर एयरलाइन ने चार महीने का प्रतिबंध लगा दिया है। इस प्रतिबंध के बाद से शंकर मिश्र अगले चार महीने तक एअर इंडिया की फ्लाइट में सफर नहीं कर पाएगा। शंकर मिश्रा ने कथित तौर पर विमान में 72 वर्षीय एक महिला पर पेशाब किया था।
फ्लाइट में हुई इस घटना के सामने आने के बाद से इस पर आक्रोश फैल गया था। घटना के छह हफ्ते बाद मिश्रा को पिछले हफ्ते बंगलौर से गिरफ्तार कर लिया गया था। गिरफ्तार होने से पहले वह कई दिनों से फरार चल रहा था। इस बीच उसकी कम्पनी वेल्स फार्गो ने भी उसे नौकरी से निकाल दिया था।
ताजा ख़बरें
इस मसले पर त्वरित कार्रवाई न करने के लिए एअर इंडिया की काफ़ी आलोचना हुई थी। जिसमें फ्लाइट के लैंड होने के बाद मिश्रा को बिना किसी कार्रवाई के चले जाने दिया गया।
इस मसले पर एक महीने से ज्यादा बीत जाने के बाद एयरलाइंस की तरफ से 4 जनवरी को इस पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में हुई देरी पर एअरलांइस की तरफ से कहा गया कि  वह पुलिस के पास नहीं गई क्योंकि उसे लगा कि दोनों पक्षों ने मामले को आपसी सहमति से सुलझा लिया है।
कोर्ट की सुनवाई के दौरान शंकर मिश्रा ने कहा उसने उड़ान के दौरान बुजुर्ग महिला के ऊपर पेशाब नहीं किया था, बल्कि महिला ने खुद ही अपने ऊपर पेशाब किया था। महिला ने मिश्रा के दावों का खंडन करते हुए उसे पूरी तरह से झूठा और मनगढ़ंत बताया।
फिलहाल मामले की सुनवाई चल रही है, और आरोपी को न्यायिक हिरासत में रखा भेज दिया गया है। उसकी जमानत याचिका ठुकरा दिया गया है। मामले की सुनवाई कर रहे जज ने मिश्रा के कृत्य को पूरी तरह से घृणित और प्रतिकारक बताया।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
क़मर वहीद नक़वी
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें