loader
औरंगाबाद में औरंगजेब का मकबरा

एमएनएस की धमकी के बाद औरंगाबाद में औरंगजेब का मकबरा 5 दिनों के लिए बंद

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने महाराष्ट्र में मुगल सम्राट औरंगजेब के मकबरे को पांच दिनों के लिए बंद कर दिया है। इलाके की मस्जिद समिति ने भी जगह पर ताला लगाने की कोशिश की थी। दो दिन पहले, राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रवक्ता गजानन काले ने एक ट्वीट में राज्य में इस मकबरे के अस्तित्व की आवश्यकता पर सवाल उठाया था और कहा था कि इसे नष्ट कर दिया जाना चाहिए। बाद में, औरंगाबाद के खुल्दाबाद इलाके में एक मस्जिद समिति, जहां मकबरा स्थित है, ने स्मारक को बंद करने की कोशिश की, जो एएसआई द्वारा संरक्षित है। इसके बाद, एएसआई ने स्मारक पर अतिरिक्त सुरक्षा गार्ड तैनात किए थे।

ताजा ख़बरें
संपर्क करने पर एएसआई के औरंगाबाद सर्कल के अधीक्षक मिलन कुमार चौले ने बताया कि इससे ​​पहले मस्जिद कमेटी ने जगह पर ताला लगाने की कोशिश की, लेकिन हमने उसे खोल दिया। अब हमने अगले पांच दिनों के लिए मकबरे को बंद करने का फैसला लिया।
अधिकारी ने कहा, हम स्थिति की समीक्षा करेंगे और फिर इसे खोलने या इसे अगले पांच दिनों तक बंद रखने का फैसला करेंगे।एआईएमआईएम नेता अकबरुद्दीन ओवैसी की इस महीने की शुरुआत में मकबरे की यात्रा की राज्य में सत्तारूढ़ शिवसेना के साथ-साथ राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने आलोचना की थी। ओवैसी के मकबरे की यात्रा के कुछ दिनों बाद, एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा था कि क्या इस तरह के कृत्य का उद्देश्य महाराष्ट्र में एक नया विवाद पैदा करना है जहां शांति कायम है।

  
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें