loader
त्रिशूर में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी

भारत जोड़ो यात्राः बुजुर्ग महिलाएं राहुल को गले लगाकर रो पड़ीं

भारत जोड़ो यात्रा आज रविवार 25 सितंबर को केरल के त्रिशूर से फिर शुरू हुई। यात्रा का दसवां दिन है। त्रिशूर की सड़कों पर यात्रा का केरल के परंपरागत रीति-रिवाजों के अनुसार स्वागत किया गया। सड़क के दोनों तरफ लोग खड़े थे। त्रिशुर में बुजुर्ग महिलाओं ने राहुल गांधी को पहुंचकर आशीर्वाद दिया। कई बुजुर्ग महिलाएं राहुल को गले लगाकर भाव विह्वल हो गईं। छोटी-छोटी बच्चियों में राहुल के साथ फोटो खिंचवाने की होड़ रही।
भारत जोड़ो यात्रा कुछ देर के लिए सेंट जेवियर चर्च के पास रोकी गई। ईसाई समुदाय के लोगों, पादरियों ने भी राहुल गांधी को यात्रा के लिए शुभकामनाएं दीं।
Bharat Jodo Yatra: old women hugged Rahul and wept - Satya Hindi
बुजुर्ग महिलाओं ने राहुल को त्रिशूर में आशीर्वाद दिया
भारत जोड़ो यात्रा के दौरान बीच-बीच में दूसरे राज्यों के प्रमुख नेता भी आकर शामिल होते हैं। हरियाणा से राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा राहुल के साथ कदम से कदम मिलाकर चलते हुए नजर आए।
ताजा ख़बरें

आरएसएस पर हमला

इस बीच कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि कांग्रेस की 'भारत जोड़ी यात्रा' ने भाजपा और आरएसएस को परेशान कर दिया है। यही वजह है कि आरएसएस प्रमुख अब समाज के विभिन्न वर्गों तक पहुंचने के लिए मजबूर हो रहे हैं। बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत तीन दिन पहले दिल्ली की एक मस्जिद में गए थे। 
Bharat Jodo Yatra: old women hugged Rahul and wept - Satya Hindi
यह बुजुर्ग महिला राहुल को गले लगाकर भाव विह्वल हो गईं
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा शुरू होने के बाद से बीजेपी और आरएसएस दोनों घबराए हुए हैं। यह हमारी पहल का प्रभाव है।
रमेश ने कहा, मसजिद में भागवत का दौरा एक पब्लिसिटी स्टंट के अलावा और कुछ नहीं था। हालांकि वह मसजिद गए तो थे, लेकिन उनके इरादे अच्छे नहीं थे। यह सिर्फ दिखावा था, क्योंकि वह वास्तविक मुद्दों पर चुप रहते हैं। 

यह पूछे जाने पर कि पूरे भारत में राहुल गांधी की यात्रा बीजेपी शासित गुजरात से क्यों नहीं गुजरेगी, जहां चुनाव दिसंबर में होने हैं, रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा अभियान चुनाव केंद्रित नहीं है। इसका चुनाव से कोई संबंध नहीं है।

Bharat Jodo Yatra: old women hugged Rahul and wept - Satya Hindi
भारत जोड़ो यात्रा में रविवार 25 सितंबर को त्रिशूर में हरियाणा से राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा भी शामिल हुए
कांग्रेस नेता ने कहा कि यात्रा कार्यक्रम में गुजरात को शामिल करना इसलिए भी संभव नहीं था क्योंकि यात्रा को राज्य तक पहुंचने में 90 दिन लग जाएंगे, तब तक चुनाव खत्म हो चुके होंगे।

जयराम रमेश ने कहा, भारत जोड़ो यात्रा का कार्यक्रम किसी राज्य के चुनाव और कम से कम गुजरात और अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तो हर्गिज नहीं बनाया गया है। हालांकि, यह निश्चित रूप से 2024 के लोकसभा चुनावों को प्रभावित करेगी। एक मजबूत कांग्रेस विपक्ष को और भी मजबूत बनाएगी।  
देश से और खबरें
राज्यसभा सदस्य रमेश ने कहा, विपक्ष को एकजुट करने के उद्देश्य से भारत जोड़ो यात्रा नहीं निकाली जा रही है। लोग अब महसूस कर रहे हैं कि अगर कांग्रेस कमजोर रहती है, तो एकजुट विपक्ष का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा कि यात्रा का मकसद बीजेपी शासन में देश को टूटने से रोकना है। भारत कमजोर होता जा रहा है। चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाषा बदलती है और जाति, धर्म और भाषा के आधार पर लोगों का ध्रुवीकरण करने का प्रयास किया जाता है। यह यात्रा भारतीय राजनीति के पाठ्यक्रम को बदल देगी। यह भारत और कांग्रेस को नया जीवन भी देगी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें