loader

दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन कथित हवाला मामले में गिरफ्तार, ईडी की कार्रवाई

ईडी ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन पर गिरफ्तारी की कार्रवाई कोलकाता से जुड़ी एक फर्म के मामले में की है। ईडी ने अप्रैल में, सत्येंद्र जैन और उनके रिश्तेदारों से कथित रूप से जुड़ी कंपनियों की 4.81 करोड़ रुपये की अचल संपत्तियों को अस्थायी रूप से कुर्क किया था। ये कुर्की मनी लॉन्ड्रिंग के उसी मामले के सिलसिले में की गई है। ईडी मंत्री के खिलाफ पहले से ही जांच कर रही थी।

ईडी का मामला भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत जैन के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की 2017 की एफआईआर पर आधारित है। सत्येंद्र जैन आम आदमी पार्टी प्रमुख और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल के खास मंत्रियों में हैं। 

ताजा ख़बरें
ईडी ने हाल ही में जैन से 2018 के मामले में पूछताछ करने से पहले उन्हें तलब किया था। सीबीआई की शिकायत में कहा गया था कि जैन चार कंपनियों को मिले फंड के स्रोत के बारे में नहीं बता सके, जिसमें वह एक शेयरधारक थे। एजेंसी ने उनके, उनकी पत्नी और चार अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में मामला दर्ज किया था। सीबीआई इससे पहले भी उनसे इस मामले में पूछताछ कर चुकी है।

इस गिरफ्तारी के बाद अरविंद केजरीवाल और केंद्र सरकार के बीच एक नए युद्ध की शुरुआत हो सकती है। आप, ममता बनर्जी और तेलंगाना के के. चंद्रशेखर राव जैसे अन्य विपक्षी नेताओं ने केंद्र पर अक्सर केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया है।

 दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार शाम ट्वीट किया कि गिरफ्तारी हिमाचल प्रदेश में आगामी चुनाव को ध्यान में रखते हुए की गई, जहां जैन आप के प्रभारी हैं। सत्येंद्र जैन के खिलाफ आठ साल से फर्जी केस चल रहा है। अब तक ईडी जैन को कई बार फोन कर चुका है। बीच में ईडी ने कई सालों तक फोन करना बंद कर दिया क्योंकि उन्हें कुछ नहीं मिला। अब उन्होंने फिर से शुरुआत की क्योंकि सत्येंद्र जैन हैं हिमाचल के चुनाव प्रभारी हैं। उपमुख्यमंत्री ने कहा, "बीजेपी हिमाचल में बुरी तरह हार रही है। इसीलिए सत्येंद्र जैन को सोमवार को गिरफ्तार किया गया है ताकि वह हिमाचल न जा सकें। उन्हें कुछ दिनों में रिहा कर दिया जाएगा क्योंकि मामला पूरी तरह से फर्जी है।
देश से और खबरें

केजरीवाल की भविष्यवाणी

केजरीवाल ने इस साल जनवरी में आप की एक रैली के दौरान कहा था कि उनके सूत्रों ने उन्हें बताया है कि उनके सहयोगी सत्येंद्र जैन को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए जाने की संभावना है। "हमारे सूत्रों से हमें पता चला है कि पंजाब चुनाव से ठीक पहले, आने वाले कुछ दिनों में, ईडी सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार करने जा रहा है। उनका स्वागत है। पहले भी, केंद्र ने सत्येंद्र जैन पर छापे मारे थे, लेकिन कुछ भी नहीं मिला। केजरीवाल ने पंजाब चुनाव से पहले संवाददाताओं से कहा था, जिसमें उनकी आम आदमी पार्टी या आप ने जीत हासिल की थी।

तमाम विपक्षी शासित राज्य बीजेपी पर आरोप लगाते रहे हैं कि जहां-जहां उसकी सरकार नहीं है, उन राज्यों में वो केंद्रीय एजेंसियों के जरिए विपक्ष पर कार्रवाई करती है। इस सबंध में ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे, अशोक गहलौत, के. चंद्रशेखर राव, भूपेश बघेल समेत कई नेताओं के बयान आ चुके हैं।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें