loader
मोदी सोमवार को अहमदाबाद में वोट देने जाने से पहले मतदाताओं का अभिवादन करते हुए।

मतदान वाले दिन पीएम मोदी के रोड शो पर EC मूकदर्शक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सोमवार 5 दिसंबर को अहमदाबाद में वोट डाला। लेकिन उन्होंने जिस अंदाज औऱ तरीके से वोट डाला, उससे वो और चुनाव आयोग विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस ने इसे मतदान वाले दिन पीएम मोदी का रोडशो बताया है। वो इस मामले को चुनाव आयोग के सामने उठाने जा रही है। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मतदान के दिन 'रोड शो' करने को लेकर सोमवार को बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। खबरों के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी चुनाव आयोग का रुख करने की योजना बना रही है, जिसमें चुनाव के दिन मोदी का मतदाताओं से अभिवादन करना चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है। टीएमसी ने जी20 शिखर सम्मेलन के चुनाव चिह्न के रूप में कमल का इस्तेमाल करने के लिए बीजेपी की भी आलोचना की।

ताजा ख़बरें
कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने सोमवार दोपहर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वोटिंग वाले दिन प्रधानमंत्री एक सामान्य मतदाता होते हैं, कोई अलग से उनको विशेषाधिकार प्राप्त नहीं है। लेकिन लोगों ने लाइव देखा कि देश का प्रधानमंत्री चुनाव आचार संहिता की धज्जियां उड़ाकर मतदान वाले दिन रोड शो कर रहा है। वो कई किलोमीटर का चक्कर काटकर मतदान स्थल पहुंचे फिर वो पैदल ही लंबी दूरी कर वोट डालने बूथ में गए। मतदान बूथ पर उनके समर्थक नारे लगाते पाए गए। पवन खेड़ा ने कहा कि ये सब लाइव हो रहा था और देश का चुनाव आयोग मूक दर्शक बनकर तमाशा देख रहा था। उन्होंने कहा कि सोमवार को मतदान वाले दिन इस घटना को लेकर चुनाव आयोग क्या कर लेगा। अगर उसने पहले से सख्ती की होती तो कोई भी इस तरह की जुर्रत नहीं कर पाता।
कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने याद दिलाया कि पहले चरण के मतदान वाले दिन भी पीएम मोदी ने अपना रोड शो दोपहर बाद ही शुरू कर दिया था, जबकि मतदान खत्म होने में काफी समय था। उस रोड शो में आचार संहिता की धज्जियां उड़ीं लेकिन चुनाव आयोग तब भी चुप रहा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि रविवार शाम से ही कांग्रेस के विधायक और मौजूदा प्रत्याशी बीजेपी गुंडों के निशाने पर हैं लेकिन किसी के खिलाफ पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर दांता के कांग्रेस विधायक भागकर जंगल में नहीं छिपते तो उनकी जान बीजेपी के गुंडे ले लेते।
देश से और खबरें
बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी वोट डालने के इरादे से रविवार को ही गुजरात जा पहुंचे थे। उन्होंने सबसे पहले अपनी मां से जाकर मुलाकात की। इस घटना का लाइव कवरेज भी टीवी चैनलों ने दिखाया। पीएम की मां से मुलाकात की फोटो का अखबारों ने व्यापक कवरेज किया। मोदी के अपनी मां के पैर छूने के फोटो को मीडिया में काफी प्रमुखता मिली। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि यह सब प्रचार का हिस्सा था। इसी तरह सोमवार को पीएम ने पहले रोड शो किया और वोट डालने के बाद अपने भाई के घर गए। इसका भी लाइव कवरेज होता रहा, यह सब ओछी हरकतें कोई भी समझ सकता है। उम्मीद है कि जनता इसका जवाब देगी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें