loader

बाबरी ध्वंस पर बयान के मामले में प्रज्ञा के ख़िलाफ़ एफ़आईआर

बाबरी मसजिद ढहाने का दावा करने की वजह से भोपाल लोकसभा सीट पर भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बुरी तरह ‘फँस’ गई हैं। बयान पर जवाब-तलब के बाद ज़िला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर प्रज्ञा के ख़िलाफ़ सोमवार की रात भोपाल के कमला नगर थाने में एफ़आईआर दर्ज करा दी गई है।

ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने शनिवार को प्रज्ञा सिंह ठाकुर को आदर्श चुनाव आचरण संहिता के उल्लंघन के मामले में नोटिस दिया था। उन्हें जवाब देने के लिए एक दिन का समय दिया गया था। साध्वी ने रविवार शाम को ज़िला निर्वाचन अधिकारी के सामने अपना जवाब पेश कर दिया था। जवाब में कई ‘किन्तु-परंतु’ के अलावा साध्वी ने नोटिस पर ही सवाल भी खड़े किए थे।

सम्बंधित खबरें
ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने सोमवार शाम को साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के जवाब को असंतोषजनक क़रार देते हुए उन्हें आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी क़रार दिया। ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को निर्देश दिए कि कार्रवाई करते हुए उन्हें की गई कार्रवाई से अवगत कराया जाए। साध्वी के ख़िलाफ़ धर्म विशेष के लोगों को उकसाने और उनकी धार्मिक भावनाएं भड़काने समेत कई धाराओं में मामला पंजीबद्ध करने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

साध्वी के इस बयान पर हुई है एफ़आईआर 

अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण जल्द किया जायेगा, बाबरी ढाँचा तोड़ने भी तो हम ही गये थे। ...मैंने चढ़कर तोड़ा था ढाँचा, इस पर मुझे भयंकर गर्व है। मुझे ईश्वर ने शक्ति दी थी, हमने देश का कलंक मिटाया है।


साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, बीजेपी उम्मीदवार और मालेगाँव धमाके की अभियुक्त

प्रज्ञा सिंह अध्याय चार की दोषी 

ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने एक समाचार चैनल को दिए गए इंटरव्यू में कहे गये उपरोक्त अंशों का वीडियो विशेष तौर पर देखा। ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने इसे और अन्य विवादित बयानों पर ग़ौर फरमाने के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को आदर्श चुनाव आचार संहिता के अध्याय चार का दोषी क़रार दिया है। जानकारों का कहना है कि अध्याय चार के प्रावधानों का बार-बार उल्लंघन और गंभीर चूक पर चुनाव आयोग को प्रत्याशी के ख़िलाफ़ कई तरह की सख़्त कार्रवाई करने का हक है। 

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सोमवार को नामांकन का एक सेट जमा किया है। उन्होंने नामांकन के बाद कहा था, ‘मंगलवार को पुन: नाम निर्देशन पत्र दाखिल करेंगी। सोमवार को शुभ मुहूर्त के चलते उन्होंने नामीनेशन दाखिल किया।’ साध्वी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और दलबल के साथ रोड शो करते हुए एक अन्य नामीनेशन भी दाखिल करने वाली हैं। 

मायावती ने साधा निशाना

बसपा सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बाबरी मसजिद ढाँचे को गिराने समेत अन्य विवादित बयानों को लेकर भाजपा और भोपाल की प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह को निशाने पर लिया है। एक ट्वीट के ज़रिये धर्मयुद्ध के साध्वी के बयान पर कटाक्ष करते हुए मायावती ने कहा है, ‘आरएसएस का असली चेहरा लगातार बेनकाब हो रहा है।’ मायावती ने कहा, ‘आयोग केवल नोटिस भर क्यों जारी कर रहा है उसे तो प्रज्ञा का नामांकन रद्द करने की कार्रवाई करना चाहिए।’ हालांकि सुबह जब मायावती ने ट्वीट किया था तब तक प्रज्ञा सिंह का नामांकन दाखिल नहीं हुआ था।

संजीव श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें