loader

अनलॉक 2.0: स्कूल, कॉलेज, मेट्रो, जिम, सिनेमा हॉल 31 जुलाई तक रहेंगे बंद

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार देर रात को अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस जारी कर दीं। सरकार ने कहा है कि उसने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर ज़्यादा से ज़्यादा गतिविधियां शुरू करने का फ़ैसला किया है। नई गाइडलाइंस 1 जुलाई से लागू होंगी और 31 जुलाई तक मान्य होंगी। महाराष्ट्र सहित कुछ अन्य राज्य पहले ही 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ा चुके हैं। 

सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इन गाइडलाइंस को राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों से मिले फ़ीडबैक और संबंधित मंत्रालयों और विभागों से बातचीत के बाद तैयार किया गया है। 

ताज़ा ख़बरें

अनलॉक 2.0 के तहत घरेलू उड़ानें और यात्री ट्रेनें सीमित संख्या में चलती रहेंगी। हालांकि सरकार ने कहा है कि वह इसमें तेजी लाएगी। नाइट कर्फ्यू के समय में ढील दी गई है और इसका समय रात बजे से सुबह 5 बजे तक कर दिया गया है। 

देश में अब तक कोरोना संक्रमण के 5,67,423 मामले सामने आए हैं और 16,882 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राहत की बात यह है कि 3.35 लाख लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 2.15 लाख लोगों का इलाज चल रहा है। लेकिन केंद्र सरकार ऐसे समय में ज़्यादा गतिविधियां शुरू करने का फ़ैसला ले रही है, जब देश में संक्रमण के मामले बेतहाशा गति से बढ़ रहे हैं। 

किसी एक दुकान में एक वक्त में कितने लोग सामान लेने के लिए खड़े रह सकते हैं, इसे लेकर अनलॉक 2.0 में कहा गया है कि यह दुकान के एरिया पर निर्भर करेगा। इसका मतलब यह हुआ कि अगर दुकान का एरिया ज़्यादा है तो एक वक़्त में 5 से ज़्यादा लोग सामान लेने के लिए खड़े रह सकते हैं। इस दौरान सभी को उचित दूरी बनाए रखनी होगी। 

कोरोना संक्रमण के लिहाज से देश के कुछ राज्य लगातार सरकार की चिंता का विषय बने हुए हैं। इनमें महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात प्रमुख हैं। महाराष्ट्र में तो कोरोना संक्रमण के मामले 1.70 लाख के क़रीब पहुंच चुके हैं।
अनलॉक 2.0 में कहा गया है कि केंद्र और राज्य सरकारों के ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट 15 जुलाई से शुरू हो जाएंगे। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लेकर केंद्र सरकार ने कहा है कि वंदे भारत मिशन के तहत सीमित संख्या में यह ऑपरेशन चलता रहेगा। 

क्या-क्या रहेगा बंद

केंद्र सरकार ने स्कूल, कॉलेजों और कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को 31 जुलाई तक बंद रखने का फ़ैसला किया है। 

इसके अलावा मेट्रो, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थियेटर्स, बार, ऑडिटोरियम्स और ऐसी ही अन्य जगहें भी बंद रहेंगी। 

ऐसे सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, एकेडमिक और धार्मिक कार्यक्रम या ऐसे ही कुछ दूसरे कार्यक्रम जिनमें बड़ी संख्या में लोगों के इकट्ठा होने का अनुमान हो, इन पर भी पाबंदी जारी रहेगी। 

कंटेनमेंट ज़ोन में जारी रहेगी सख़्ती 

केंद्र सरकार ने कहा है कि अनलॉक 2.0 के तहत कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन का सख्ती से पालन जारी रहेगा और केवल ज़रूरी सामानों की ही आपूर्ति होगी। इसके अलावा पहले की ही तरह राज्य में एक जगह से दूसरी जगह जाने या एक राज्य से दूसरे राज्य में लोगों के जाने या सामान ले जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा और इसके लिए किसी तरह का ई-पास या कोई अन्य अनुमति लेने की ज़रूरत नहीं होगी। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें