loader

कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस में सभी पदों से बर्खास्त, CWC से भी बाहर

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार शाम को हरियाणा कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई को कांग्रेस कार्यसमिति में विशेष आमंत्रित सदस्य के पद सहित पार्टी के सभी पदों से तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया। हरियाणा कांग्रेस ने शनिवार सुबह ही संकेत दिया था कि आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के लिए कार्रवाई की मांग की गई है।

बिश्नोई ने 10 जून को राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले हरियाणा में दो राज्यसभा सीटों के चुनाव के लिए अपने ट्वीट्स के लिए सुर्खियां बटोरीं।

कांग्रेस के उम्मीदवार अजय माकन, जिन्हें कई लोगों ने जीतना सुनिश्चित माना था, बिश्नोई की क्रॉस वोटिंग के बाद राज्यसभा सीट हासिल करने में नाकाम रहे और एक अन्य विधायक का वोट अमान्य घोषित कर दिया गया।

ताजा ख़बरें
कांग्रेस के अनुसार, बिश्नोई ने पार्टी के उम्मीदवार श्री माकन को वोट देने के बजाय, कार्तिकेय शर्मा को क्रॉस वोट दिया, जिन्होंने बीजेपी और उसकी सहयोगी जननायक जनता पार्टी द्वारा समर्थित एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था।

एआईसीसी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, कांग्रेस अध्यक्ष ने कुलदीप बिश्नोई को उनके सभी मौजूदा पार्टी पदों से तत्काल प्रभाव से निष्कासित कर दिया है, जिसमें कांग्रेस कार्य समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य के पद भी शामिल हैं।

Kuldeep Bishnoi sacked from all posts in Congress, also out of CWC - Satya Hindi

बिश्नोई ने कांग्रेस विधायकों की किसी भी बैठक में भाग नहीं लिया था और कहा था कि उन्होंने अपने विवेक के अनुसार मतदान किया है।  बिश्नोई ने एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था: फन कुचलने का हुनर आता है मुझे, सांप के ख़ौफ़ से जंगल नही छोड़ा करते। सुप्रभात। कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य बिश्नोई राज्यसभा का मतदान शुरू होने से पहले ट्वीट किया था, जिससे इस परिवार की मनस्थिति का पता लगता है। भव्य ने लिखा था - हम समंदर हैं हमें ख़ामोश रहने दो,

ज़रा मचल गए तो शहर ले डूबेंगे। 

राज्यसभा के नतीजे घोषित होने के बाद, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कार्तिकेय शर्मा के लिए कुलदीप बिश्नोई के मतदान पर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि कांग्रेस नेता ने अपने “आंतरिक विवेक” को सुनकर ऐसा किया। खट्टर ने कहा कि कुलदीप अगर बीजेपी में आते हैं तो उनका स्वागत है।

नाराजगी की वजह

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से वंचित किए जाने के बाद बिश्नोई पार्टी से नाराज थे और उन्होंने कहा था कि वह राहुल गांधी से मिलने के बाद ही निर्णय लेंगे लेकिन वो बैठक कभी नहीं हुई। कुलदीप बिश्नोई उस भजनलाल के बेटे हैं, जिन्होंने रातों रात पूरी कैबिनेट के साथ दलबदल किया था और देवीलाल को छोड़कर कांग्रेस से मिल गए थे। हरियाणा में आयाराम-गयाराम की कहावत उसी समय से मशहूर हो गई।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें