loader

अलर्टः दिल्ली के 4 अस्पताल ओमिक्रॉन सेंटर बनाए गए

ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ने पर दिल्ली सरकार ने शनिवार को 4 अस्पतालों को ओमिक्रॉन समर्पित सेंटर में बदलने की घोषणा की है। 

ये अस्पताल हैं - सर गंगाराम अस्पताल, मैक्स साकेत, फोर्टिस वसंतकुंज और बत्रा अस्पताल तुगलकाबाद।

इसमें सिर्फ एक अस्पताल सरकारी है जबकि बाकी तीन प्राइवेट हैं। 

दिल्ली सरकार ने कहा है कि ओमिक्रॉन से निपटने के लिए सारे इंतजाम कर लिए गए हैं।

ख़ास ख़बरें

मुंबई में तीनों टीके लेने के बावजूद बीमार

ऐसे समय जब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह आशंका जताई है कि कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट पर टीके का ख़ास असर नहीं पड़ेगा, मुंबई में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक व्यक्ति ने तीन कोरोना टीके लगवाए थे, उसके बावजदू वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वह व्यक्ति अमेरिका से आया हुआ है। 

न्यूयॉर्क से आए इस शख़्स ने फ़ाइज़र कोरोना टीके के तीन ख़ुराकें ली थीं, उसमें कोरोना के बाहरी लक्षण नहीं दिख रहे थे, पर कोरोना टेस्ट में वह पॉजिटिव पाया गया। उसके नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया। उसके संपर्क में आए दो लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं।

बीएमसी ने की पुष्टि

बृहन्मुंबई म्युनिसपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि उस व्यक्ति को अस्पताल में दाखिल कराया गया है, हालांकि उसमें कोरोना के लक्षण नहीं दिखे थे।

इसके साथ ही मुंबई में ओमिक्रॉन वैरिएंट से पीड़ित लोगों की संख्या 15 हो गई है। इनमें से 13 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। महाराष्ट्र में इस वैरिएंट से प्रभावित लोगों की संख्या 40 तक पहुंच गई है।

महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 902 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 66,47,840 हो गई। इसके अलावा 12 रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 1,41,329 तक पहुँच चुकी है।

Delhi Government Coverts 4 Hospitals as Omicron Dedicated Centres - Satya Hindi

क्या कहा डब्लूएचओ ने?

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि टीके के असर को कम करता है। हालांकि, इसके साथ ही शुरुआती आँकड़ों से पता चलता है कि इस वैरिएंट के कम गंभीर लक्षण दिखते हैं।

डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा है कि ओमिक्रॉन दक्षिण अफ्रीका में तेजी से फैला जहां डेल्टा का संक्रमण उस तरह से नहीं फैला है। ब्रिटेन में भी ओमिक्रॉन काफी तेज़ी से फैल रहा है जहां डेल्टा बड़े पैमाने पर फैला है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक बयान में कहा है कि "मौजूदा उपलब्ध आँकड़ों को देखते हुए यह संभावना है कि ओमिक्रॉन डेल्टा वैरिएंट से आगे निकल जाएगा जहां तक कम्युनिटि ट्रांसमिशन का मामला है।"

डब्ल्यूएचओ के इस दावे से पहले वैक्सीन निर्माता फाइजर/बायोएनटेक ने पिछले हफ्ते कहा था कि उनकी वैक्सीन की तीन खुराक अभी भी ओमिक्रॉन के ख़िलाफ़ प्रभावी हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें