loader

रेल मंत्री : महाराष्ट्र से 65 ट्रेनें खाली लौटीं, मज़दूर नहीं मिले

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने महाराष्ट्र सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा है कि 65 ट्रेनें राज्य से खाली लौटी हैं क्योंकि राज्य सरकार उनमें बैठने के लिए मज़दूर नहीं ला सकी।
गोयल ने मंगलवार को पत्रकारों से बात करते हुए उद्धव ठाकरे सरकार पर झूठ बोलने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि सरकार ने 80 ट्रेन नहीं माँगी। 
देश से और खबरें
मंत्री ने कहा कि रेलवे ने महाराष्ट्र के लिए 145 ट्रेनों का इंतजाम किया और स्टेशनों की जानकारी भी दी। पीयूष गोयल ने कहा, 

'बहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि आज 12.30 बजे तक मज़दूरों को कोई जानकारी नहीं थी। आज 5 बजे तक 74 ट्रेन महाराष्ट्र से रवाना होंगी, पर राज्य सरकार ने 24 ट्रेनों के लिए ही मजदूरों का इंतजाम किया है।'


पीयूष गोयल, रेल मंत्री

रेल मंत्री ने ट्रेन खाली लौटने का दावा ऐसे समय किया है जब रेलवे पर ज़बरदस्त बदइंतजामी के आरोप लग रहे हैं। प्रवासी मज़दूरों से पैसे लेने, उनके खाने पीने का इंतजाम नहीं करने, ट्रेन में लोगों के भूखों मरने और ज़रूरी संख्या में ट्रेन नहीं चलाने के आरोप लग रहे हैं। 
इसके अलावा कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अपने रास्ते से भटकने की ख़बरें हैं। एक श्रमिक ट्रेन महाराष्ट्र के वसई से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के लिए चली थी और पहुँच गई ओडिशा के राउरकेला। ट्रेनों के रास्ते भटकने के सवाल किए गए तो रेलवे ने अजीबोगरीब जवाव दिए कि लाइनें व्यस्त होने के कारण उनका रूट बदला गया था। अब यदि दो दिन में पहुँचने वाली ट्रेन 9 दिन में अपने गंतव्य तक पहुँचे तो उसे क्या कहेंगे, रूट बदलना या रास्ते से भटकना? और इस बीच ट्रेनों में कई लोगों की मौत की ख़बरें आने लगे तो क्या कहा जाएगा!

'सत्य हिन्दी'
सदस्यता योजना

'सत्य हिन्दी' अपने पाठकों, दर्शकों और प्रशंसकों के लिए यह सदस्यता योजना शुरू कर रहा है। नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से आप किसी एक का चुनाव कर सकते हैं। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है, जिसका नवीनीकरण सदस्यता समाप्त होने के पहले कराया जा सकता है। अपने लिए सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। हम भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें