loader

मोदी सरकार देश की उपलब्धियों को तुच्छ साबित करने पर तुली: सोनिया

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि देश ने बीते 75 सालों में अनेक उपलब्धियां हासिल की हैं लेकिन आज की आत्ममुग्ध सरकार हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के महान बलिदानों और देश की गौरवशाली उपलब्धियों को तुच्छ साबित करने पर तुली हुई है। सोनिया ने कहा कि इसे किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं किया जा सकता। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से देश को संबोधित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद और परिवारवाद देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती के रूप में सामने हैं। उन्होंने कहा कि हमें भ्रष्टाचार के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ना है। 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि पिछले 75 साल में भारत ने अपने प्रतिभाशाली भारतवासियों की कड़ी मेहनत के बल पर विज्ञान, शिक्षा, स्वास्थ्य और सूचना प्रौद्योगिकी सहित सभी क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय पटल पर एक अमिट छाप छोड़ी है।

ताज़ा ख़बरें
उन्होंने कहा कि भारत ने अपने दूरदर्शी नेताओं के नेतृत्व में एक ओर जहां स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव व्यवस्था स्थापित की, वहीं प्रजातंत्र और संवैधानिक संस्थाओं को भी मजबूत बनाया। सोनिया ने कहा कि राजनीतिक फायदे के लिए ऐतिहासिक तथ्यों पर कोई भी गलतबयानी तथा गांधी-नेहरू-पटेल-आजाद जैसे महान राष्ट्रीय नेताओं को असत्यता के आधार पर कटघरे में खड़ा करने के प्रयास का भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पुरजोर विरोध करेगी। 
सोनिया ने कहा कि वह सभी देशवासियों को भारत के स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देती हैं और भारत के उज्जवल प्रजातांत्रिक भविष्य की कामना करती हैं। 

मोदी ने क्या कहा?

दूसरी ओर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि चाहे वो आजादी की लड़ाई लड़ने वाले हों या राष्ट्र का निर्माण करने वाले- डॉ. राजेंद्र प्रसाद, नेहरू जी, सरदार पटेल, एसपी मुखर्जी, एलबी शास्त्री, दीनदयाल उपाध्याय, जेपी नारायण, राम मनोहर लोहिया, विनोबा भावे, नानाजी देशमुख, सुब्रमण्यम भारती, आज उन्हें याद करने और नमन करने का वक्त है। 

मोदी ने कहा कि अगर इस देश के सामने करोड़ों संकट हैं, तो इतने ही समाधान भी हैं। उन्होंने कहा कि निर्धारित लक्ष्य के साथ, संकल्प के प्रति समर्पण के साथ जब 130 करोड़ देशवासी आगे बढ़ते हैं, तो हिंदुस्तान 130 कदम आगे बढ़ जाता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 8 वर्षों में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के द्वारा आधार, मोबाइल जैसी आधुनिक व्यवस्थाओं का उपयोग करते हुए, गलत हाथों में जाने वाले 2 लाख करोड़ रुपये को बचाकर उन्हें देश की भलाई में लगाने में हम कामयाब हुए हैं।

देश से और खबरें

विपक्ष-सरकार आमने-सामने

बता दें कि बीते कुछ महीनों में सोनिया और राहुल गांधी से जांच एजेंसी ईडी की पूछताछ, महंगाई, बेरोजगारी जैसे बड़े मसलों को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर खासी हमलावर रही है। बेरोजगारी और महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने 5 अगस्त को काले कपड़े पहन कर प्रदर्शन किया था। कांग्रेस के प्रदर्शन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काला जादू वाला तंज किया था। इसके अलावा संसद का शीतकालीन सत्र भी हंगामेदार रहा था और इसमें सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसद आमने-सामने दिखाई दिए थे। 

विपक्ष ने सरकार पर बेरोजगारी, महंगाई, अग्निपथ योजना, जीएसटी की दरों में बढ़ोतरी जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा न कराने के आरोप लगाए थे। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें