loader

कोरोना से जुड़ी समस्याओं पर सोनिया अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को कोरोना से जुड़ी समस्याओं की वजह से दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है कि उनकी हालत स्थिर है। 

सुरजेवाला ने कहा है, 'कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को आज कोविड से जुड़ी समस्याओं के कारण गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया। वह स्थिर हैं और उन्हें अस्पताल में निगरानी के लिए रखा जाएगा। हम सभी कांग्रेसी पुरुषों और महिलाओं के साथ-साथ सभी शुभचिंतकों को उनकी चिंताओं और शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद देते हैं।'

सोनिया गांधी के 2 जून को कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। उनके साथ एक बैठक में शामिल कांग्रेस के कुछ और नेताओं की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोरोना संक्रमित होने के बाद सोनिया ने खुद को आइसोलेट कर लिया था। 

इससे एक दिन पहले यानी 1 जून को ईडी ने सोनिया गांधी व कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को समन भेजा था। दोनों नेताओं को नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में यह समन भेजा गया था।

ताज़ा ख़बरें

सोनिया गांधी को ईडी के सामने 8 जून को बुलाया गया था। हालाँकि कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें अब नया समन जारी किया गया है और 23 जून को बुलाया गया है।

राहुल गांधी को 2 जून को पेश होने के लिए कहा गया था। लेकिन राहुल गांधी विदेश में थे। अब राहुल लौट आए हैं और इसलिए उनको ईडी ने नया समन जारी किया है। अब उन्हें 13 जून को बुलाया गया है।

ईडी ने नेशनल हेराल्ड मामले में अप्रैल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और पवन बंसल से भी नई दिल्ली में पूछताछ की थी। 

देश से और ख़बरें

बता दें कि नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं। बीजेपी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि सोनिया और राहुल गांधी ने केवल 50 लाख रुपये का भुगतान कर यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के ज़रिए कांग्रेस के स्वामित्व वाले एसोसिएट जरनल लिमिटेड (एजेएल) की 90.25 करोड़ की रकम वसूलने का अधिकार हासिल कर लिया था।

स्वामी ने इस मामले में दिल्ली की एक अदालत में शिकायत दर्ज कराई थी। स्वामी की याचिका पर संज्ञान लेते हुए अदालत ने आयकर विभाग से यंग इंडिया लिमिटेड के खिलाफ जांच करने के लिए कहा था। इस मामले में ईडी ने भी प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत नया केस दर्ज किया था।

पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने एजेएल को 1937 में शुरू किया था। नुकसान होने के बाद 2011 में इसके स्वामित्व को यंग इंडिया लिमिटेड कंपनी को ट्रांसफर कर दिया गया था। यंग इंडिया लिमिटेड का गठन 2010 में किया गया था और इसमें राहुल गांधी और कांग्रेस के एक नेता निदेशक थे। राहुल गांधी और सोनिया गांधी के पास इस कंपनी के 76 फ़ीसदी शेयर थे और 24 फ़ीसदी शेयर कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और ऑस्कर फर्नांडिस के पास थे।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें