loader

हिजाब में अकेली छात्रा, चारों तरफ भगवाधारी छात्र, बिगड़ रहा है माहौल

कर्नाटक के कॉलेजों में हिजाब बनाम भगवा दुपट्टा विवाद ने उस समय ज़बरदस्त रूप ले लिया जब हिजाब पहने अकेली छात्रा को मांड्या के एक कॉलेज में नारे लगाने वाले, भगवा दुपट्टा पहने लड़कों के एक बड़े समूह ने घेर लिया। वायरल वीडियो में, युवती अपनी स्कूटी पार्क करती है और कॉलेज की इमारत की ओर जाती है, तभी भगवा दुपट्टा पहने छात्र "जय श्री राम" चिल्लाते हैं और उसकी ओर बढ़ते हैं। सोशल मीडिया पर लोग इस कृत्य की निन्दा कर रहे हैं। लोगों ने माहौल बिगाड़ने का आऱोप बीजेपी पर लगाया है।

इस बीच मांड्या प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज से एक मुस्लिम छात्र और एक भगवा समूह के बीच मारपीट का भी वीडियो सामने आया है। 

ताजा ख़बरें
मुस्लिम छात्रा वापस चिल्लाती है: "अल्लाह हू अकबर!" जैसे ही वह अपनी क्लास में जाती है, लड़के पीछे से चिल्लाते रहते हैं। कॉलेज के अधिकारी लड़कों को पकड़कर छात्रा को एस्कॉर्ट करते दिख रहे हैं।
उधर, आज सुबह, उडुपी में महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) कॉलेज के बाहर विरोध प्रदर्शनों में एक समूह को हिजाब में देखा गया और दूसरे ने भगवा स्कार्फ पहने नारे लगाए, पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में रखने की कोशिश की। हाईकोर्ट आज उडुपी के एक सरकारी कॉलेज की पांच महिलाओं द्वारा हिजाब प्रतिबंध पर सवाल उठाने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है।

हिजाब का विरोध पिछले महीने उडुपी के गवर्नमेंट गर्ल्स पीयू कॉलेज में शुरू हुआ जब छह छात्राओं ने आरोप लगाया कि उन्हें हिजाब पहनने पर जोर देने के लिए कक्षाओं से रोक दिया गया था।
उडुपी और चिक्कामगलुरु में दक्षिणपंथी समूहों ने मुस्लिम लड़कियों के हिजाब पहनने पर आपत्ति जताई। उडुपी और उसके बाहर और अधिक कॉलेजों में विरोध फैल गया, जिसमें सरकार ने हिजाब पर प्रतिबंध लगा दिया और कई छात्रों ने भगवा स्कार्फ में दिखाकर और नारे लगाते हुए टकराव की स्थिति ले ली।

शनिवार को, राज्य की बीजेपी सरकार ने कॉलेजों में हिजाब पर प्रतिबंध लगा दिया था।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें