loader

'द कश्मीर फाइल्स' फिल्म को बदनाम करने की साजिश की गईः मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने भी आज चर्चित फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को अपना समर्थन दे दिया। इससे पहले बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, अन्य पार्टी नेता, कार्यकर्ता इस फिल्म की खुलकर तारीफ कर रहे हैं। कश्मीर घाटी से कश्मीरी पंडितों के पलायन पर बनी फिल्म ऐतिहासिक तथ्यों में छेड़छाड़ की वजह से विवादों में आ गई है। पीएम मोदी ने आज कहा कि ऐसी फिल्में सच्चाई प्रकट करती हैं। मोदी ने दावा किया कि इस फिल्म को बदनाम करने की "साजिश" की गई है।
ताजा ख़बरें
दिल्ली में आज बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने इस मुद्दे पर फिल्मों के आलोचकों पर तंज किया और कहा कि वे गुस्से में हैं क्योंकि हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म उस सच्चाई को सामने ला रही है जिसे जानबूझकर छिपाया गया था। पूरी जमात (गैंग) जिसने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का झंडा फहराया था, 5-6 दिनों से उग्र है। तथ्यों और कला के आधार पर फिल्म की समीक्षा करने के बजाय, इसे बदनाम करने की साजिश की जा रही है।  विवेक अग्निहोत्री द्वारा निर्देशित और लिखित यह फिल्म, पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों द्वारा संगठित हत्याओं के बाद राज्य से कश्मीरी पंडितों के पलायन को दर्शाती है। पीएम मोदी ने कहा- 

उनकी चिंता यह है कि सच्चाई को सही तरीके से सामने लाया जाना चाहिए। मेरी चिंता सिर्फ फिल्म नहीं है। मेरा मानना ​​है कि सच्चाई को सही तरीके से सामने लाना देश के लिए फायदेमंद है। इसके कई पहलू हो सकते हैं। कुछ एक चीज देखते हैं, दूसरे कुछ और देखते हैं।


-पीएम मोदी, द कश्मीर फाइल्स फिल्म पर

इसके बाद उन्होंने फिल्म के आलोचकों पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि फिल्मों के प्रति नकारात्मक प्रतिक्रियाएं उन लोगों की ओर से आ रही हैं जिन्होंने जानबूझकर कई वर्षों तक "सच्चाई" को छिपाने की कोशिश की। जो लोग सोचते हैं कि यह फिल्म सही नहीं है, उन्हें अपनी एक फिल्म बनानी चाहिए। उन्हें कौन रोक रहा है? लेकिन वे हैरान हैं कि इतने सालों तक जो सच्चाई छिपाई गई, वह सामने नहीं आ रही है। सच्चाई के लिए जीने वालों की जिम्मेदारी है कि ऐसे समय में सच्चाई के साथ खड़े रहें। फिल्म में अनुपम खेर, दर्शन कुमार, मिथुन चक्रवर्ती और पल्लवी जोशी जैसे सितारे हैं।

कई बीजेपी शासित राज्यों ने फिल्म को मनोरंजन कर से छूट दी है, कुछ मुख्यमंत्रियों ने हाल ही में रिलीज हुई इस फिल्म का स्पष्ट रूप से समर्थन किया है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि वह और उनकी पूरी कैबिनेट फिल्म देखेगी। त्रिपुरा में, मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने घोषणा की कि राज्य सरकार फिल्म की स्क्रीनिंग टैक्स फ्री करेगी।
मध्य प्रदेश सरकार ने कल घोषणा की कि राज्य में पुलिसकर्मियों को फिल्म देखने के लिए छुट्टी दी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को इसे राज्य में मनोरंजन कर से छूट देते हुए कहा था कि फिल्म अधिक से अधिक लोगों को देखने लायक है। गोवा के कार्यवाहक मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने भी कहा है कि यह फिल्म राज्य में अधिकतम संभव शो के साथ प्रदर्शित होती रहेगी। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने विधानसभा स्पीकर जीसी गुप्ता के साथ यह फिल्म देखी। हरियाणा इसे टैक्सी फ्री कर चुका है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें