loader

ई-कॉमर्स कंपनियों को ग्रीन-ऑरेंज ज़ोन में ग़ैर-ज़रूरी चीजों की आपूर्ति की छूट

लॉकडाउन को दूसरी बार बढ़ा कर 17 मई तक करने के केंद्र सरकार के फ़ैसले के साथ ही इसमें कुछ रियायतों का भी एलान किया गया है। नए दिशा निर्देश में कहा गया है कि ई-कॉमर्स कंपनियों को छूट मिलेगी।

ग्रीन और ऑरेंज जोन में ई-कॉमर्स कंपनियों को हर तरह के कामकाज की मंजूरी दी गई है। लेकिन रेड ज़ोन में उन्हें सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने की छूट दी गई है। 

अर्थतंत्र से और खबरें
इससे अमेज़ॉन और फ़्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों को काम करने की अनुमति मिलेगी और उन्हें फ़ायदा होगा। 

लॉकडाउन शुरू होते समय पहले सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को हर तरह की सेवा की छूट दी थी। पर बाद में नोटिस जारी कर कहा गया कि उन्हें ग़ैरज़रूरी चीजों की सप्लाई करने की छूट नहीं होगी। 

गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा था कि ‘ई-कॉमर्स कंपनियों को इस दिशा निर्देश से बाहर किया जाता है जिसमें यह कहा गया है कि ई-कॉमर्स की कंपनियाँ और उनकी गाड़ियाँ ग़ैर-ज़रूरी चीजें लेकर जा सकती हैं।’

भल्ला ने ट्वीट कर कहा, 'ई-कॉमर्स कंपनियों की ओर से ग़ैर-ज़रूरी चीजों की आपूर्ति पर लॉकडाउन के दौरान रोक लगी रहेगी।'
इसी तरह ओला, उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों को ऑरेंज व ग्रीन ज़ोन में पहले की तरह काम करने की छूट मिली है। पर  रेड ज़ोन में गाड़ी में सिर्फ एक ड्राइवर और एक सवारी की ही अनुमति दी गई है। 

Satya Hindi Logo लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा! गोदी मीडिया के इस दौर में पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए 'सत्य हिन्दी' के साथ आइए। नीचे दी गयी कोई भी रक़म जो आप चुनना चाहें, उस पर क्लिक करें। यह पूरी तरह स्वैच्छिक है। आप द्वारा दी गयी राशि आपकी ओर से स्वैच्छिक सेवा शुल्क (Voluntary Service Fee) होगा, जिसकी जीएसटी रसीद हम आपको भेजेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें