loader

मत्स्य व्यापार के लिए 20 हज़ार करोड़, पशुपालन के लिए 15 हज़ार करोड़

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से मछली पालन, पशुपालन और मधुमक्खी पालन के लिए क्या है, इस बारे में बताया। ये तीनों ही क्षेत्र कृषि से जुड़े हैं और कई किसान खेती के साथ-साथ इन कार्यों में भी लगे होते हैं। वित्त मंत्री ने घोषणा की-

  • प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में 20,000 करोड़ का प्रावधान किया गया है। 
  • इसमें से मत्स्य पालन के लिए 9,000 करोड़ रुपये इन्फ्रास्ट्रक्चर में लगाया जाएगा।
  • पशुपालन सेक्टर के बुनियादी ढाँचे के लिए 15 हजार करोड़ का फ़ंड दिया गया है।
  • 53 करोड़ जानवरों का टीकाकरण होगा। इसमें 13,343 करोड़ रुपये ख़र्च होंगे।
  • मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ की योजना लाई जाएगी। 
  • इससे मधुमक्खी पालन के लिए आधारभूत संरचना का निर्माण किया जाएगा।
  • इस योजना से 2 लाख मधुमक्खी पालकों को फ़ायदा होगा।
  • ज़रूरी उत्पाद से संबंधित 1955 के क़ानून में संशोधन किया जाएगा। 
  • किसान अपना सामान एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाकर बेच सकेंगे। 
  • सरकार कृषि उत्पादों की ई-ट्रेडिंग को बढ़ावा देगी।
Satya Hindi Logo लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा! गोदी मीडिया के इस दौर में पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से मुक्त रखने के लिए 'सत्य हिन्दी' के साथ आइए। नीचे दी गयी कोई भी रक़म जो आप चुनना चाहें, उस पर क्लिक करें। यह पूरी तरह स्वैच्छिक है। आप द्वारा दी गयी राशि आपकी ओर से स्वैच्छिक सेवा शुल्क (Voluntary Service Fee) होगा, जिसकी जीएसटी रसीद हम आपको भेजेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें