loader

मोदी स्टेज पर वे बातें नहीं कह सकते जो 2014 में कहते थे: राहुल

लोकसभा चुनावों के बीच राहुल गाँधी ने एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि चुनाव का मुख्य मुद्दा- नौकरी और अर्थव्यवस्था है, लेकिन अफ़सोस की बात है कि प्रधानमंत्री इन मुद्दों पर बात नहीं कर सकते हैं। उन्होंने चुनौती दी कि प्रधानमंत्री स्टेज पर खड़े होकर वे बातें नहीं कह सकते हैं जो वह 2014 में कह रहे थे। राहुल ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री की पूरी पोल खोल दी है। उन्होंने कहा, ‘हमने उन्हें मुद्दों पर घेरा और वह इस पर पूरी तरह से घिर गये हैं। मोदी को नौकरी और किसानों के मुद्दों पर बोलना चाहिए। इन मुद्दों पर वह दिवालिया हैं।’ राहुल गाँधी राजस्थान में एक चुनावी रैली के बाद एनडीटीवी के साथ इंटरव्यू में बातचीत कर रहे थे।

ताज़ा ख़बरें

राहुल ने कहा है कि नरेंद्र मोदी इस बार प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे। उन्होंने कहा, 'देश में बहुत ज़्यादा बेरोज़गारी है, किसानों में भारी निराशा है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं।' राहुल ने दावा किया कि हमारा आँकड़ा बताता है कि पहले के चार चरणों में हम बेहतर कर रहे हैं और यह बिलकुल साफ़ है कि हम चुनाव जीत रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव नहीं जीत रही है। 

प्रधानमंत्री बनने के सवाल पर राहुल ने कहा, ‘यह कहने के लिए मेरे लिए सही जगह नहीं है कि देश के लोगों की चाहत क्या है। मैं देश के लोगों का सम्मान करता हूँ और मैं लोगों की इच्छा के अधीन ही आता हूँ।’

‘यूपी में बीजेपी को नुक़सान पहुँचा रहे हैं’

राहुल ने एनडीटीवी को दिये इंटरव्यू में कई सवालों के जवाब दिये। उत्तर प्रदेश की राजनीति पर भी उन्होंने जवाब दिया। राहुल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में एक धर्मनिरपेक्ष गठबंधन चुनाव जीत रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस वोटों को बँटवारा नहीं कर रही है, हम बीजेपी को नुक़सान पहुँचा रहे हैं।

प्रियंका गाँधी के बारे में राहुल गाँधी ने कहा, 'प्रियंका के वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ने के बारे में फ़ैसला काफ़ी पहले लिया जा चुका था। मैंने कहा कि मैं आपको सस्पेंस में रखूँगा और मैंने ऐसा कर दिखाया।'

चुनाव 2019 से और ख़बरें

आरोप: भ्रष्टाचारियों की मदद कर रहे हैं मोदी 

एनडीटीवी के अनुसार, राहुल ने इंटरव्यू में आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी भ्रष्टाचारियों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘रफ़ाल सौदे के दो दिन बाद अनिल अंबानी को 100 मिलियन यूरो का भुगतान किया गया। प्रधानमंत्री रफ़ाल डील की सौदेबाज़ी क्यों कर रहे हैं? वह समानांतर सौदेबाज़ी क्यों कर रहे हैं?’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमारा सर्वे बताता है कि देश में 67 फ़ीसदी लोग रफ़ाल सौदे को घोटाला मानते हैं और यह बात ग़लत साबित हो गयी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ने वाले योद्धा हैं।

ख़ेद जताने के सवाल पर क्या बोला?

राहुल गाँधी ने साफ़ कर दिया कि वह ‘चौकीदार चोर है’ वाले बयान पर खेद नहीं जताएँगे। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री मोदी से तो बिलकुल भी खेद नहीं जताऊँगा। मैंने सच में यह कह कर ग़लती कर दी थी कि वह बात सुप्रीम कोर्ट ने मानी है। मैं 'चौकीदार चोर है' या 'मोदी ने रुपये चुराये' यह कहने के लिए खेद नहीं जता रहा हूँ।'

आप से गठबंधन क्यों नहीं?

राहुल ने यह भी कहा कि तमिलनाडु, महाराष्ट्र, झारखंड, बिहार और कश्मीर में हमने गठबंधन किया तो फिर यह ड्रामा क्या चल रहा है कि कांग्रेस के साथ तो कोई गठबंधन ही नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमने अरविंद केजरीवाल से बात की और वह गठबंधन के लिए तैयार हो गये, लेकिन तभी वह पंजाब और हरियाणा का मामला ले आये।

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें