loader

शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन को गुरुवार तक की हिरासत 

सुपर स्टार शाहरुख ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान को गुरुवार तक के लिए एनसीबी की हिरासत में भेज दिया गया है।

मुंबई की अदालत ने उन्हें हिरासत में भेजा है। 

सोमवार दोपहर को आर्यन ख़ान को अदालत में पेश किया गया। 

नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को आर्यन और दूसरे सात लोगों को गिरफ़्तार किया था। 

आर्यन ख़ान पर प्रतिबंधित नशीले पदार्थ खीरदने, रखने और उनका इस्तेमाल करने के आरोप लगे हैं। 

नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को एक रेव पार्टी पर छापा मार कर  13 ग्राम कोकीन, 21 ग्राम चरस, 22 ग्राम एमडीएमए पाँच ग्राम एमडी बरामद किए थे। 

ख़ास ख़बरें

इसके पहले एनसीबी ने अदालत से कहा था कि आर्यन ख़ान को 11 अक्टूबर तक रिमांड में रहने दिया जाए। उसने कहा था कि जब तक ड्रग्स लेने वाले से पूछताछ नहीं की जाती है, सप्लाई करने वाले तक कैसे पहुँचा जाएगा। 

एजेंसी ने सोमवार को अदालत में कहा कि चैट के लिंक से पता चलता है कि इसके पीछे कोई अंतरराष्ट्रीय ड्रग कार्टेल का हाथ है। 

एनसीबी ने कहा कि सप्लायर्स के यहाँ मारे गए छापे में ड्रग्स वाणिज्यिक मात्रा में पाया गया। उसे चैट में कुछ कोड मिले हैं, जिन्हें डीकोड करना ज़रूरी है। इसके अलावा बैंक और नकद के लिंक भी जुड़े हुए हैं, जिनके बारे में जानकारी इकट्ठा करना ज़रूरी है।

क्या कहा आर्यन ख़ान ने?

आर्यन ख़ान ने अदालत में कहा,

मुझे लंबे समय तक हिरासत में रखने की माँग इस आधार पर की जा रही है कि दूसरे अभियुक्तों के पास से ड्रग्स मिले हैं। दूसरे अभियुक्त के पास से वाणिज्यिक मात्रा में मिले ड्रग्स को मुझ पर नहीं थोपा जा सकता है।


आर्यन ख़ान, ड्रग्स मामले में अभियुक्त

आर्यन ख़ान ने यह भी कहा कि एजेन्सी अंतरराष्ट्रीय ड्रग कार्टेल की बात कर रही है, यह बहुत बड़ा आरोप है और इसके लिए सबूत होने चाहिए। बगैर बरामदगी के वॉट्सऐप चैट का कोई मतलब नहीं है। 

आर्यन ख़ान के वकील सतीश मानशिंदे ने ज़मानत याचिका पेश करते हुए अदालत में कहा कि आर्यन को सिर्फ चैट मैसेज के आधार पर गिरफ़्तार किया गया। 

उन्होंने कहा कि

जिस क्रूज़ पर छापा मार कर लोगों को गिरफ़्तार किया गया, आर्यन के पास उसका टिकट, केबिन या सीट नहीं थी। वे वहाँ सिर्फ इसलिए गए हुए थे कि उन्हें आमंत्रित किया गया था।


सतीश मानशिंदे, वकील, आर्यन ख़ान

मानशिंदे ने कहा कि आर्यन के पास क्रूज़ का बोर्डिंग पास तक नहीं था। उनके पास से कुथ भी बरामद नहीं हुआ है। उन्हें सिर्फ चैट के आधार पर गिरफ़्तार किया गया। 

क्रूज़ से गिरफ़्तारी

बता दें कि शनिवार की दोपहर मुंबई से गोवा जाने के लिए निकले कॉर्डेलिया क्रूज पर एनसीबी ने छापा मारकर शनिवार रात चल रही रेव पार्टी से फ़िल्म अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान समेत आठ लोगों को ड्रग्स के इस्तेमाल करते समय रंगे हाथ पकड़ लिया था।

आर्यन ख़ान और दूसरे अन्य 7 लोगों को एनसीबी की टीम कॉर्डेलिया क्रूज से उतार कर एनसीबी के दफ्तर में ले आई। 18 घंटे की पूछताछ के बाद एनसीबी ने आर्यन खान और उसके दो अन्य साथियों- मुनमुन धमेचा और अरबाज मर्चेंट को गिरफ्तार किया था। 

एनसीबी के अधिकारियों का कहना है कि आर्यन खान के पास से 13 ग्राम कोकीन, पाँच ग्राम एमडी (मेफोड्रोन), 21 ग्राम चरस और 1 लाख 33 हजार रुपये जब्त किए हैं।

ड्रग्स सेवन का मामला

एनसीबी ने आर्यन खान के ख़िलाफ़ ड्रग्स के सेवन करने और ड्रग्स की बरामदगी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

आर्यन खान, मुनमुन धमेचा और अरबाज़ मर्चेंट का एनसीबी ने पहले मेडिकल कराया और उसके बाद रविवार देर शाम अतिरिक्त महानगर दंडाधिकारी आरके राजे भोसले की हॉलिडे कोर्ट में पेश किया।

ड्रग पेडलर

एनसीबी के एक बड़े अधिकारी का कहना है कि आर्यन खान और उसके दोस्त दिल्ली में कुछ ड्रग्स पेडलर के संपर्क में भी थे। इस बात का खुलासा आर्यन खान और ड्रग पेडलर की वाट्सऐप पर हुई बातचीत से हुआ है।

एनसीबी का कहना है कि आर्यन खान और दूसरे अन्य लोगों के ख़िलाफ़ एनसीबी के साथ पास पुख्ता सबूत हैं जिससे यह साबित हो जाएगा कि आर्यन खान और उसके दूसरे अन्य साथी इस क्रूज़ पर ड्रग पार्टी में शामिल हुए थे।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें