loader
नासिक में शिवसैनिकों ने बागी विधायक एकनाथ शिंदे के पोस्टर पर स्याही फेंकी

महाराष्ट्रः शिंदे के पोस्टर पर स्याही फेंकी, सड़कों पर विरोध शुरू

शिवसेना के बागी विधायकों का महाराष्ट्र में विरोध शुरू हो गया है। शिवसेना भवन मुंबई में शिवसेना के जिला अध्यक्षों और अन्य नेताओं की बैठक से पहले ही विरोध की सूचनाएं आने लगी हैं। इस बीच शिंदे गुट ने गुवाहाटी में 38 शिवसेना विधायकों के समर्थन का फोटो और वीडियो जारी किया है। इससे पहले शिंदे ने ही 50 शिवसेना विधायकों के समर्थन का दावा किया था।

नासिक शहर में शुक्रवार को शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने एक पोस्टर पर काली स्याही फेंकी। यह पोस्टर एकनाथ शिंदे का था। शिवसेना कार्यकर्ताओं ने शिंदे को गद्दार घोषित करते हुए मुर्दाबाद के नारे लगाए। इसी तरह के प्रदर्शन की सूचनाएं मुंबई के उपनगरों से भी आ रही है। ठाणे में शिंदे के पोस्टर को शिवसेना के कुछ कार्यकर्ताओं ने उतारने की कोशिश की। यह पोस्टर बीजेपी ने शिंदे के स्वागत में लगवाया था।

ताजा ख़बरें

बैठक में रणनीति

यह घटनाक्रम शिवसेना भवन में बैठक से पहले का है। शिवसेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को ही कहा है कि जरूरत पड़ी तो शिवसेना सड़कों पर आएगी। समझा जाता है कि शिवसेना जिला अध्यक्षों की बैठक इसी सिलसिले में बुलाई गई है। इस बैठक को संबोधित करने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे पहुंच चुके हैं। इस बैठक के जरिए शिवसेना यह भी बताना चाहती है कि पार्टी पर उसकी पकड़ है। संकेत है कि सड़कों पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं को उतरने के लिए कहा जा सकता है। 

Maharashtra: Ink thrown Shinde's poster, protests on the streets - Satya Hindi
एकनाथ शिंदे गुट ने दोपहर को 38 विधायकों के समर्थन का फोटो ट्वीट किया

उधर, बागी नेता एकनाथ शिंदे विधायकों की संख्या को लेकर बार-बार बयान बदल रहे हैं। शुक्रवार दोपहर को उन्होंने गुवाहाटी से एक फोटो ट्वीट किया, जिसमें 38 शिवसेना विधायकों के समर्थन का दावा किया गया। जबकि सुबह उन्होंने तमाम टीवी चैनलों को कथित एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में 50 से ज्यादा विधायकों के समर्थन का दावा किया था। गुरुवार को यह संख्या उनकी तरफ से 40 बताई गई थी। 

गुवाहाटी के जिस रेडिसन ब्लू होटल में शिंदे गुट के विधायक मेहमान बने हुए हैं, उसके बाहर असम पुलिस तैनात है। वहां किसी भी शख्स को जाने की इजाजत नहीं है। शिंदे को जब पत्रकारों से बात करना होती है तो वो बाहर से अंदर बुलवाते हैं या लॉबी में आकर बात करते हैं। 

शिवसेना के सतारा के जिला उपाध्यक्ष संजय भोंसले शुक्रवार को जब गुवाहाटी में होटल के पास पहुंचे तो उनको पुलिस वालों ने हिरासत में ले लिया। संजय भोंसले शिवसेना में चल रही उठापटक से परेशान होकर गुवाहाटी में विधायकों को मनाने पहुंचे थे। लेकिन पुलिस ने उन्हें बाहर ही पकड़ लिया। संजय भोंसले ने कहा कि पुलिस ने बेशक मुझे विधायकों से मिलने नहीं दिया लेकिन इन विधायकों को जनता के बीच तो आना ही है। हम उनका इंतजार कर रहे हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें