loader

महाराष्ट्रः शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, फडणवीस बने डिप्टी

शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे ने गुरुवार शाम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस ने डिप्टी के रूप में शपथ ली। प्रधानमंत्री मोदी ने शिंदे को बधाई दी कि वो महाराष्ट्र को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। महाराष्ट्र में एक दिन के अंदर सबकुछ बदल गया। शिवसेना ने अंत तक सुप्रीम कोर्ट में इस लड़ाई को लड़ा। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया कि वो फ्लोर टेस्ट पर रोक नहीं लगाएगी। फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया। शिंदे ने बीजेपी के साथ गुरुवार को सरकार बनाने का दावा पेश किया। जिसे गवर्नर ने मान लिया और शाम को शपथ दिला दी गई। उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस को दी बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया, 'मेरी कामना है कि आप महाराष्ट्र में अच्छा काम करें'।

सरकार बनाने को लेकर दिलचस्प मोड़ तब आया जब फडणवीस ने कहा कि वो सरकार में शामिल नहीं होंगे। शिंदे सीएम होंगे। सबकुछ दिल्ली से नियंत्रित हो रहा था। बाद में दिल्ली ने फैसला बदला औऱ तय हुआ कि एक रणनीति के तहत देवेंद्र फडणवीस सरकार में शामिल होंगे और डिप्टी सीएम होंगे। बाद में फडणवीस ने भारी मन से पार्टी के इस फैसले को स्वीकार किया। ट्वीट करके जानकारी भी दे दी।
ताजा ख़बरें
बीजेपी ने बहुत तरीके से सारा ताना-बाना बुना है। एकनाथ शिंदे को मंत्री बनवाकर उसने जनता में संदेश भेजा है कि मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही है। लेकिन देखना यह है कि बीजेपी औऱ फडणवीस शिंदे को कितना बर्दाश्त करते हैं। फडणवीस हमेशा बड़ी भूमिकाओं में रहे हैं। वो दो बार सीएम रहे। ऐसे में शिंदे को वो कितना पसंद करेंगे, सारी राजनीति उसी पर निर्भर करेगी। बहरहाल, शिंदे ने तमाम बोझ को महसूस करते हुए पीएम मोदी और फडणवीस का धन्यवाद किया है कि उन्होंने उनमें विश्वास जताया। शिंदे का यह बयान किसी बीजेपी शासित सीएम जैसा ही बयान लगता है।
Shinde takes oath as chief minister, Fadnavis becomes deputy - Satya Hindi
शिंदे ने ट्विटर पर नई फोटो लगाई
शिंदे ने ट्विटर पर अपनी डिस्प्ले फोटो बदल दी है। अब जो फोटो लगी है, उसमें वो बाला साहब ठाकरे पास बैठे नजर आ रहे हैं। इस फोटो के गहरे अर्थ हैं। शिंदे दरअसल, शिवसेना के संस्थापक बाला साहब के नाम को भुना कर ही महाराष्ट्र की बागडोर को संचालित करेंगे। वो खुद को बाला साहब का वारिस साबित करने के लिए पूरा जोर लगा देंगे। यही वजह है कि कौन असली शिवसेना है, इस पर आने वाले दिनों में महाराष्ट्र की राजनीति तेज हो जाएगी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें