loader

अस्पताल में भर्ती लालू लगे हैं मोदी विरोधी गठबंधन की जुगत में

जैसे-जैसे लोकसभा 2019 चुनाव का समय नज़दीक आ रहा है, वैसे-वैसे देश के कई राज्यों में राजनीतिक दलों में महागठबंधन की भी खिचड़ी पकने लगी है। इसी कड़ी में झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स (राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस) का पेइंग वार्ड राजनीतिक चर्चाओं के केंद्र में आ गया है। दरअसल, इस वार्ड में चारा घोटाला के सज़ायाफ़्ता आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव अपना इलाज करा रहे हैं। माना जा रहा है कि बिहार और झारखंड में विपक्षी दलों को लेकर महागठबंधन का स्वरूप तैयार किया जा रहा है । इस स्वरूप पर लालू यादव की मुहर लगनी ज़रूरी है। यही कारण है कि रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती लालू यादव से मिलनेवाले नेताओं का तांता लगा हुआ है। 

मिलने के बहाने गठबंधन की तैयारी

रिम्स के इस पेइंग वार्ड में आसानी से किसी को आने की इजाज़त नहीं है, लेकिन जब राजनीतिक फ़ैसले लेने ज़रूरी हो जाएं तो मुलाक़ाती बन कर भी नेता लालू यादव के पास पहुंच रहे हैं। अब तक मिलनेवालों में बीजेपी के दिग्गज नेता शत्रुघ्न सिन्हा, कांग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री सुबोधकांत सहाय, शकील अहमद और सीपीआइएम महासचिव सीताराम येचुरी शामिल हैं। इसके अलावा लोकतांत्रिक जनता दल के संरक्षक और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव और जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन भी मिल चुके हैं। लालू के बेटे और राजद नेता तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव तो मिलते ही रहते हैं। मिलनेवाले नेता जहां लालू यादव के स्वास्थ्य की जानकारी ले रहे हैं, वहीं महागठबंधन का फ़ॉर्मूला भी तय कर रहे हैं। इन नेताओं का मानना है कि विपक्षी दलों को एकजुट होना ज़रूरी है ताकि 2019 के आम चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बेदख़ल किया जा सके। 
लालू यादव से मुलाकात के बाद बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि बदले की भावना से लालू यादव को जेल में बंद रखा गया है। उन्होंने कहा, 'मैं किसी का शत्रु नहीं हूं, हर दल से मेरे अच्छे रिश्ते हैं। मैंने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर अगर कुछ कहा तो मोदी सरकार को आइना ही दिखाया है।' आरजेडी के बारे में पूछे जाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने अंदाज में कहा, 'लालटेन की पहचान पूरी दुनिया में है। हर तरफ इसकी आन-बान और शान है।'

लालू की भूमिका अहम 

कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय और शकील अहमद ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के संदेश के साथ लालू से मुलाक़ात की, हालांकि इस मुद्दे पर दोनों नेताओं ने खुल कर कुछ नहीं कहा। लेकिन दबी ज़ुबान से दोनों ने संकेत दिए हैं कि महागठबंधन के स्वरूप में लालू प्रसाद यादव की भूमिका अहम होगी। 

येचुरी ने की गठबंधन पर बात

सीपीआइएम महासचिव  यचुरी ने कहा, 'यूपी में बसपा और सपा का गठबंधन हुआ है, हम इसका स्वागत करते हैं।' बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'जनता के सामने सारी चीजे नहीं आ पा रही है। ऐसे में संघर्ष बढ़ रहा है। इसके लिए सभी को एकजुट होना है। लालू प्रसाद यादव एक जन नेता हैं। बिहार और झारखंड में विपक्षी एकता को मजबूत करने पर बातचीत हो रही है। ऐसे में लालू यादव की भूमिका काफ़ी अहम है।' 

लालू से मिलने के बाद शरद यादव ने कहा कि बीजेपी के खिलाफ देशवासियों का गुस्सा है।  आनेवाले चुनाव में बीजेपी का सफ़ाया हो जाएगा। इसके लिए रणनीति के साथ चुनाव लड़ा जाएगा। इसी क्रम में उनकी मुलाक़ात लालू से हुई है। 

हेमंत सोरेन ने पूछा हाल 

इनके अलावा झारखंड में नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन के साथ साथ लालू के दोनों बेटे तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव लगातार रिम्स में लालू यादव से मुलाकात कर रहे हैं। रिम्स में उनके स्वास्थ्य की जानकारी पर सभी की नज़र बनी हुई है। 

क्या कहते हैं डॉक्टर?

रिम्स में भर्ती लालू यादव का इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि यादव की तबियत ठीक नहीं है। बीमारियों की चर्चा के दौरान उन्होंने बताया है कि उनकी हालत बहुत अच्छी नहीं है। कुछ नई समस्याएं आ रही हैं। शुगर के कारण जोड़ों में जकड़न भी है, जिसके कारण परेशानी बढ़ गई है। इसके पहले डॉक्टरों की टीम ने बताया था कि लालू यादव को इन्फेक्शन के कारण पेशाब के साथ खून आ रहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि डॉक्टरों की टीम ने उन पर नज़र बनाए रखी है।

राकेश कुमार
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें