loader
पीएम मोदी गुरुवार को फाजिल्का रैली को संबोधित करते

मोदी ने भी 'यूपी-बिहार के भैये' पर कांग्रेस को घेरा, किए कड़े सवाल

यूपी, बिहार के लोगों के संबंध में पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के विवादास्पद बयान से कांग्रेस बुरी तरह घिर गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज पंजाब के फाजिल्का में इस मुद्दे को उठाया। समझा जाता है कि वो शाम को यूपी के फतेहपुर में होने वाली रैली में भी इस मुद्दे को उठाएंगे। मोदी ने मुख्यमंत्री चन्नी पर हमला करते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा पर भी निशाना साधा और कहा कि चन्नी जब यूपी-बिहार वालों को भैये बोल रहे थे तो दिल्ली का परिवार ताली बजा रहा था।

ताजा ख़बरें
मोदी ने कहा, "कांग्रेस के मुख्यमंत्री के बयान पर दिल्ली के परिवार को ताली बजाते पूरे देश ने देखा। प्रधानमंत्री ने सवाल किया कि गुरु गोविंद सिंह का जन्म कहां हुआ था? पटना साहिब में, बिहार में। क्या आप गुरु गोविंद सिंह को पंजाब से बाहर निकाल देंगे? इसलिए लोगों को बांटने वाली ऐसी मानसिकता के लोगों को एक पल के लिए भी पंजाब पर शासन नहीं करने देना चाहिए। पीएम मोदी यहीं नहीं रुके। उन्होंने अगला सवाल भी दाग दिया। उन्होंने कहा, कल ही हमने संत रविदास जयंती मनाई थी।...

संत रविदास का जन्म कहां हुआ था? उत्तर प्रदेश में, वाराणसी में। क्या आप संत रविदास को पंजाब से बाहर कर देंगे?


- पीएम मोदी, गुरुवार को फाजिल्का, पंजाब में

मोदी के इन दोनों सवालों का जवाब कांग्रेस शायद ही दे पाए। सीएम चन्नी ने कल एक रोड शो के दौरान भैये वाली टिप्पणी की थी। उस समय प्रियंका गांधी उनके बगल में खड़ी हुई थीं। चन्नी ने कहा था, प्रियंका गांधी पंजाब की बहू हैं। उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली के भैये यहां आकर शासन नहीं कर सकते। हम यूपी के भैयों को पंजाब में नहीं आने देंगे। इस संबंध में जो वीडियो सामने आया, उसमें प्रियंका गांधी मुस्कुराते और ताली बजाती नजर आईं। समर्थकों ने भी चन्नी के बयान पर जयकारा लगाया और जोर से बोले -बोले सो निहाल...। 

Modi also surrounded Congress on the brother of UP-Bihar, asked tough questions - Satya Hindi
पीएम मोदी को पंजाब में गुरुवार को हल भेंट किया गया। किसान हल को खेतों में इस्तेमाल करते हैं।
हालांकि चन्नी ने यह विवादास्पद टिप्पणी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए की थी, जो आम आदमी पार्टी (आप) के लिए पंजाब में बड़े पैमाने पर प्रचार कर रहे हैं। पंजाब में आप की स्थिति बेहतर बताई जा रही है। केजरीवाल ने चन्नी के बयान पर कहा, यह बहुत शर्मनाक है। हम किसी भी व्यक्ति या किसी विशेष समुदाय पर ऐसी टिप्पणियों की निंदा करते हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें