loader

नेशनल हेराल्ड मामला: राहुल से पूछताछ कर रही ईडी 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से जांच एजेंसी ईडी मंगलवार को एक बार फिर पूछताछ कर रही है। राहुल नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी की पूछताछ का सामना कर रहे हैं। पूछताछ का यह पांचवा दिन है। 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी 23 जून को जांच एजेंसी के सामने पेश होना है। कोरोना से संक्रमित होने के बाद वह दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती थीं। सोमवार शाम को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई। 

उधर, अग्निपथ योजना और जांच एजेंसी ईडी के द्वारा पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से पूछताछ के विरोध में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को देश में कई जगहों पर प्रदर्शन किया। दिल्ली में युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शिवाजी ब्रिज स्टेशन के रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर विरोध जताया। पुलिस ने युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को वहां से हटाया। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कनॉट प्लेस में भी प्रदर्शन किया।
National Herald: Rahul summoned again by ED on Tuesday - Satya Hindi
कांग्रेस के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मिला और उन्हें अग्निपथ योजना के विरुद्ध ज्ञापन सौंपा। 

National Herald: Rahul summoned again by ED on Tuesday - Satya Hindi

सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ के दौरान राहुल गांधी से यंग इंडिया लिमिटेड में गांधी परिवार के स्वामित्व और एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड में गांधी परिवार की शेयरहोल्डिंग से जुड़े सवाल पूछे गए हैं। एजेंसी ने राहुल से किए गए सवाल जवाब की ऑडियो और वीडियो रिकॉर्डिंग भी की है। 

कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने उसके वरिष्ठ नेताओं के साथ धक्का-मुक्की और अभद्रता की है और ऐसा करके लोकतांत्रिक नियमों का उल्लंघन किया गया है। 

राजनीति से और खबरें

कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस के उसके मुख्यालय में घुसने का आरोप लगाते हुए राजभवनों का भी घेराव किया था। पार्टी ने अग्निपथ योजना के विरोध में रविवार को जंतर-मंतर पर सत्याग्रह किया था और इसमें पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत तमाम बड़े नेताओं ने शिरकत की थी। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें