loader

मोदी से तो मैं बिलकुल नहीं डरता: राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज दो टूक कहा कि 'प्रधानमंत्री मोदी से तो मैं बिल्कुल भी नहीं डरता'। उनकी यह प्रतिक्रिया नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी की कार्रवाई और यंग इंडियन लिमिटेड के दफ़्तर सील करने के मामले में एक सवाल के जवाब में आई है।

उनसे एक पत्रकार ने पूछा कि आपने ईडी के बारे में कहा कि जो कुछ करना है कर ले तो क्या आप डरने वाले नहीं हैं? इस पर राहुल ने कहा- नहीं। ...बिल्कुल नहीं...। और मोदी से तो मैं बिल्कुल ही नहीं डरता।' जब उनसे कांग्रेस मुख्यालय के रास्ते, सोनिया गांधी के आवास पर पुलिस बैरिकेडिंग को लेकर सवाल पूछा गया तो राहुल ने कहा, 'सच्चाई को बैरिकेड नहीं किया जा सकता है।'

ताज़ा ख़बरें

राहुल की प्रतिक्रिया उस मामले में थी जिसमें यंग इंडियन के कार्यालय को सील किए जाने के बाद सोनिया गांधी व कांग्रेस कार्यालय के बाहर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी। कांग्रेस ने बुधवार को इस पर कहा था कि यह कांग्रेस को धमकाने का प्रयास है और एक तरह से यह पार्टी की घेराबंदी की गई है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा है, 'कांग्रेस की घेराबंदी की जा रही है। दिल्ली पुलिस ने हमारे मुख्यालय, कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रपति के घरों को घेर लिया है। यह प्रतिशोध की राजनीति का सबसे ख़राब रूप है। हम नहीं झुकेंगे! हम चुप नहीं रहेंगे! हम मोदी सरकार के अन्याय और विफलताओं के खिलाफ आवाज़ और अपना मुद्दा उठाना जारी रखेंगे।'

बहरहाल, राहुल गांधी ने ईडी की कार्रवाई को लेकर गुरुवार को पत्रकारों से कहा, 'आप जो चाहें करें, हम डरेंगे नहीं। हम बीजेपी सरकार के खिलाफ आवाज उठाना जारी रखेंगे।'

राहुल गांधी ने कहा,

अगर आप नेशनल हेराल्ड की बात कर रहे हैं, तो पूरा मामला डराने-धमकाने का है। नरेंद्र मोदी और अमित शाह को लगता है कि थोड़े दबाव से हम चुप हो जाएंगे। लेकिन हम नहीं होंगे। नरेंद्र मोदी और अमित शाह जो कुछ भी लोकतंत्र के खिलाफ कर रहे हैं, हम इसके ख़िलाफ़ खड़े रहेंगे।


राहुल गांधी, कांग्रेस नेता

पत्रकारों द्वारा भाजपा की धमकी के बारे में पूछे जाने पर कि उन्हें 'भागने के लिए कोई जगह नहीं' छोड़ी जाएगी, राहुल ने जवाब दिया, "कौन भागने की बात कर रहा है? वे वही हैं जो भागने की बात करते हैं। हम डरेंगे नहीं। हम नरेंद्र मोदी से नहीं डरते हैं, आप जो चाहें करें, कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं अपना काम करता रहूंगा। लोकतंत्र की रक्षा करने, देश में सद्भाव बनाए रखने का काम जारी रखूँगा।'

राजनीति से और ख़बरें

ईडी की यह कार्रवाई नेशनल हेराल्ड मामले में हो रही है। नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं। बीजेपी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाया था कि सोनिया और राहुल गांधी ने केवल 50 लाख रुपये का भुगतान कर यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के ज़रिए कांग्रेस के स्वामित्व वाले एसोसिएट जरनल लिमिटेड यानी एजेएल का 90.25 करोड़ का कर्ज अपने नाम ट्रांसफर करवा लिया। इसके बाद एजेएल के 90 फ़ीसदी शेयर भी यंग इंडिया के नाम ट्रांसफर हो गए। 

एजेएल की बड़ी संपत्ति भी है। अब आरोप इस बात को लेकर है कि यंग इंडिया कम्पनी एजेएल की प्रॉपर्टी को हड़पना चाहती है। सुब्रह्मण्यम स्वामी का केस हाईकोर्ट में लम्बित है लेकिन ईडी की पूछताछ यंग इंडिया में पैसे के लेनदेन को लेकर की जा रही है।

सम्बंधित खबरें

बता दें कि सोनिया गांधी पिछले महीने तीन बार ईडी के सामने पेश हुई थीं। सूत्रों के हवाले से ख़बरें आई थीं कि सोनिया से तीन दिनों में 12 घंटे में 100 से अधिक सवाल पूछे गए थे। ईडी की इस कार्रवाई के विरोध में भी कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया था। 

इससे पहले जून में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से भी ईडी ने पांच दिनों में क़रीब 50 घंटे तक पूछताछ की थी। कुछ रिपोर्टों के अनुसार उनसे लगभग 150 सवाल पूछे गए थे। कांग्रेस ने तब भी बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया था। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें