loader

कंगना ने शबाना को क्यों कहा 'टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थक’?

पुलवामा में आतंकी हमले को लेकर पाक में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम को रद्द करने के बावजूद शबाना आज़मी निशाने पर आ गई हैं। उनपर हमला किसी और ने नहीं, बल्कि फ़िल्म इंडस्ट्री से ही कंगना रनौत ने किया। कंगना ने शबाना को ‘एंटी-नेशनल’ क़रार देते हुए कहा है कि पाकिस्तान में कार्यक्रम के लिए कोई हामी भी कैसे भर सकता है। कंगना ने शबाना आज़मी को ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे गैंग’ का समर्थक बताया। हालाँकि, कंगना के उलट सोशल मीडिया पर लोगों ने इसके लिए शबाना और जावेद दोनों की जमकर तारीफ़ की है कि उन्होंने पाकिस्तान में कार्यक्रम रद्द कर दिया है। 

विवाद की शुरुआत तब हुयी जब सीआरपीएफ़ पर हुए आतंकी हमले के बाद शबाना आज़मी ने कराची में होने वाला अपना एक इवेंट रद्द कर दिया। बता दें कि कराची आर्ट काउंसिल ने शबाना के पिता कैफ़ी आज़मी और उनकी कविताओं के बारे में एक लिटरेचर कॉन्फ्रेंस का आयोजित किया था। इसके लिए शबाना और जावेद अख्तर को आमंत्रित किया गया था। पुलवामा हमले को कारण बताते हुए दोनों ने कार्यक्रम में जाने से मना कर दिया। शबाना ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। 

शबाना आज़मी ने एक के बाद एक तीन ट्वीट में लिखा कि ऐसी स्थिति में भारत और पाकिस्तान के बीच कल्चरल एक्सचेंज नहीं हो सकते। जवान हमारे लिए अपनी जान गवां रहे हैं। मैं पूरी तरह शहीदों के परिवार के साथ हूँ।

शबाना के इन ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने शबाना और जावेद की जमकर तारीफ़ की। लेकिन इसी बीच फ़िल्म मणिकर्णिका की अभिनेत्री कंगना ने उनको एंटी-नेशनल कहकर विवाद खड़ा कर दिया। एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट से बातचीत में कंगना ने कहा, ‘जब उरी हमले के बाद पाकिस्तान के कलाकारों पर बैन लगाया जा चुका है तो ऐसे में कराची में कार्यक्रम का आयोजन करने का क्या मतलब है?’ कंगना ने कहा कि ऐसे में शबाना आज़मी का कल्चरल एक्सचेंज पर रोक की बात करना काफ़ी हैरानी भरा है। उन्होंने कहा कि ये वही लोग हैं जो 'भारत तेरे टुकड़े होंगे गैंग' का समर्थन करते हैं। उन्होंने दावा किया कि फ़िल्म इंडस्ट्री दुश्मनों के मनोबल को बढ़ावा देने वाले ऐसे एंटी-नेशनलिस्टों से भरी पड़ी है। 

  • कंगना की टिप्पणी के जवाब में शबाना ने कहा कि जब पूरा देश दुखी और इस घटना की निंदा कर रहा है तो मेरे ऊपर इस तरह के हमले का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कंगना के लिए कहा कि भगवान उन्हें ख़ुश रखे।

कंगना ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भी सख्त कार्रवाई की बात की। उन्होंने कहा, 'हमें निर्णायक कार्रवाई करने की ज़रूरत है वरना हमारी ख़ामोशी को हमारी कायरता समझा जाएगा। जो भी इस समय अहिंसा और शांति के बारे में बोले उसके चेहरे को काला करके गधे पर बिठाकर सड़कों पर घुमाओ और थप्पड़ मारो।’ कंगना ने कहा कि पाकिस्तान पर प्रतिबंध नहीं उसके ख़ात्मे पर फोकस करने का वक़्त है।

पाक में अनुपम खेर की फ़िल्म रिलीज पर भी हुआ था विवाद

अभिनेता अनुपम खेर की सबसे विवादित फ़िल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पाकिस्तान में रिलीज हुयी थी। अनुपम खेर ने जब ट्विटर पर इसकी जानकारी थी तो उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया गया था। हालाँकि, तब कंगना रनौत का एंटी-नेशनल जैसा कुछ बयान नहीं आया था। 

पंकज भारद्वाज नाम के एक यूजर ने लिखा था, 'सर, कुछ पैसों के लिए आप पाकिस्तान में मूवी रिलीज कर देंगे? उरी अटैक भूल गए क्या? सही कहा आपने अपना काम बनता भाड़ में जाए जनता।'

यश नाम के ट्विटर हैंडल से लिखा गया था, ‘सरकार के ख़िलाफ़ बोलने वालों को पाकिस्तान भेजने वाले, आज सरकार के हिमायती अपनी फ़िल्म जो भारत मे बुरी तरह पिट चुकी है उस फ़िल्म को लेकर पाकिस्तान गए हैं पैसा कमाने, यह लोग दूसरों को देश भक्ति सिखाते हैं।’

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पुलवामा हमला से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें